DEFENCE

Special Report: अंडमान और पूर्वी कमांड ने युद्ध तैयारी की समीक्षा की

लेफ्टिनेंट जनरल पांडे
फाइल फोटो

नई दिल्ली। चीन से चल रहे मौजूदा सैन्य तनावों के बीच अंडमान निकोबार कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने पूर्वी नौसैनिक कमांड के मुख्यालय विशाखापतनम का दौरा किया और कमांड की समाघात तैयारी का जायजा लिया। जनरल पांडे पूर्वी नौसैनिक कमांड के 03 दिनों के दौरे पर विशाखापतनम गए हैं।





अंडमान एवं निकाबोर कमांड तीनों सेनाओं की साझा कमांड है। इसके कमांडर इन चीफ ने पूर्वी नौसैनिक कमांड के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन के साथ बैठक कर समाघात तैयारी पर चर्चा की। बाद में उन्हें पूर्वी नौसैनिक कमांड की जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी दी गई।

यहां नौसैना के प्रवक्ता ने जनरल पांडे के विशाखापतनम दौरे की जानकारी देते हुए बताया कि मौजूदा भूराजनीतिक परिदृश्य के मद्देनजर जनरल पांडे के विशाखपतनम दौरे की अहमियत है। प्रवक्ता ने कहा कि पूर्वी नौसैनिक कमांड और अंडमान निकोबार कमांड तालमेल से समागात भूमिका में सक्रिय होती हैं।

जनरल पांडे अंडमान निकोबार कमांड के 15वें साझा कमांडर इन चीफ हैं। वह दिसम्बर, 1982 मे कोर आफ इंजीनियर्स में भर्ती हुए थे। वह ब्रिटेन के स्टाफ कालेंज के स्नातक हैं। उन्होंने आपरेशन विजय और पराक्रम में हिस्सा लिया है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर इंजीनियर रेजीमेंट की कमान सम्भाली है। उन्होंने उत्तर पूर्वी राज्यों में प्रतिविद्रोही भूमिका मैं अनुभव हासिल किया और पश्चिमी लद्दाख में एक पर्वतीय डिवीजन की कमांड सम्भाली है।

Comments

Most Popular

To Top