DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: कल्याणी ग्रुप ने किये ‘मेक इन इंडिया’ के 5 समझौते

कल्याणी ग्रुप
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्राइवेट सेक्टर की रक्षा कम्पनी कल्याणी ग्रुप ने वैश्विक रक्षा तकनीक और निर्माण कम्पनियों के साथ सहयोग के पांच समझौते किये हैं।





ये समझौते अमेरिका, किर्गिस्तान, बुलगारिया और फ्रांस की कम्पनियों के साथ किये गए हैं। कल्याणी ग्रुप के भारत फोर्ज ( बीएफएल ) ने इलेक्ट्रोमैगनेटिक औऱ उऩ्नत ऊर्जा और बिजली तकनीक के उपकरण बनाने वाली अमेरिकी कम्पनी जनरल एटोमिक्स के साथ सहमति के ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। इसके तहत बिजली उत्पादन, भंडारण, नियंत्रण औऱ वितरण के उपकरणों को बनाने के लिये सम्भावनाओं की तलाश की जाएगी। य़े उपकरण समुद्री औऱ समुद्र के भीतरी मंचों जैसे युद्धपोतों औऱ पनडुब्बियों को बनाने में इस्तेमाल किये जा सकते हैं।

भारत फोर्ज ने किर्गिस्तान की दास्तान कॉरपोरेशन के साथ सहयोग के समझौते किये हैं। यह कम्पनी टारपीडो के अलावा युद्धपोतों और पनडुब्बियों के लिये कई साज सामान बनाती है। वैश्विक अंतरिक्ष वैमानिकी और तकनीक कम्पनी पारामाउंट ग्रुप के साथ भारत में विभिन्न संयंत्रों के निर्माण के लिये भारत में संयुक्त उद्यम स्थापित करने के इरादे से सहमति के ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। फ्रांस की थेल्स कम्पनी के साथ भारत फोर्ज ने भारत में एफ- 90 राइफलों के निर्माण के लिये सहमति के ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। इन राइफलों का इस्तेमाल सेनाओं और पुलिस बलों द्वारा किया जाता है।

कल्याणी ग्रुप की ही कम्पनी कल्याणी स्ट्रैटजिक सिस्टम्स ने बुलगारिया की आर्सेनल ज्वाइंट स्टाक कम्पनी के साथ सामरिक साझेदारी का गठजोड़ स्थापित करने के लिये सहमति के ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये है। बुलगारिया की यह कम्पनी कई तरह की एसाल्ट राइफलों औऱ मशीन गनों का निर्माण करती है।

Comments

Most Popular

To Top