DEFENCE

Special Report: रक्षा प्रदर्शनी में 1,000 कम्पनियों की होगी भागीदारी

रक्षा प्रदर्शनी

नई दिल्ली। लखनऊ में 05 से 09 फरवरी तक आयोजित हो रही रक्षा प्रदर्शनी डेफ एक्सपो- 2020 अब तक की सबसे बड़ी होगी। इस प्रदर्शनी में अमेरिका, रूस , यूरोपीय देशों, पूर्व एशिया और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों की 166 कम्पनियों के साथ करीब एक हजार से अधिक हथियार कम्पनियों ने अपनी मौजूदगी दर्ज करा ली है।





दो साल पहले चेन्नेई मे आयोजित डेफ एकस्पो- 2018 में कुल 702 कम्पनियों ने भाग लिया था। इसके अलावा विदेशी कम्पनियों की संख्या भी 160 थी।

प्रदर्शनी के दौरान आरक्षित स्टाल भी 60 प्रतिशत अधिक हो गए हैं। कुल 42,800 वर्ग मीटर जगह पर ये स्टाल आरक्षित करवाए गए हैं जो कि अब तक का एक रिकार्ड है। पिछली बार 26,774 वर्ग मीटर जगह ही आरक्षित करवाई गई थी। प्रदर्शनी के दौरान भारी संख्या में बिजनेस समझौते होने की उम्मीद है। इस प्रदर्शनी का मुख्य विषय है- भारत- एक उभरता रक्षा उत्पादन गढ़। प्रदर्शनी के दौरान देश की सम्पूर्ण अंतरिक्ष वैमानिकी, रक्षा और सामरिक हितों को पेश किया जाएगा।

इस प्रदर्शनी का उपविषय होगा- रक्षा का डिजीटल बदलाव । यह भविष्य के रणक्षेत्र के अनुकूल होगा। देश में विकसित रक्षा उत्पादों के जीवंत प्रदर्शनों के अलावा डेफ एक्सपो के दौरान सार्नजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रम और भारतीय रक्षा उद्योग जमीनी, नौसैनिक और हवाई शस्त्र प्रणालियों का प्रदर्शन किया जाएगा।

प्रदर्शनी में इंडिया पेवेलियन होगा जिसमें सार्वजनिक और प्राइवेट सेक्टरों औऱ लघु औऱ मझोले उद्योंगों के बीच साझेदारी को दिखाया जाएगा। प्रदर्शनी के दौरान उत्तर प्रदेश पेवेलियन भी बनाया गया है। प्रदर्शनी में आने वाले विजिटरों के रिहाईश के लिये टेंट सिटी बनाई गई है।

Comments

Most Popular

To Top