DEFENCE

लड़कियों के लिए खुलेंगे सैनिक स्कूलों के दरवाजे

सैनिक स्कूल

नई दिल्ली। सैनिक स्कूलों और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में छात्राओं को एडमिशन देने पर के प्रस्ताव पर केन्द्र सरकार विचार कर रही है। लोकसभा में शुक्रवार को रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने बताया कि सैनिक संसद की स्थायी समिति का सुझाव आया था कि सैनिक स्कूलों में छात्राओं को भी प्रवेश दिया जाये। ऐसा ही सुझाव अन्य वर्गों से भी आया था। इस संबंध में उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका भी थी। रक्षा राज्य मंत्री लोकसभा में हेमन्त तुकाराम गोडसे, राजीव सातव के प्रश्न का उत्तर दे रहे थे।





रक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि सैनिक स्कूलों का मकसद छात्रों को राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के लिए तैयार करना है और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में लड़कियों को नहीं लिया जाता है। उन्होंने कहा कि सैनिक स्कूल में लड़कियों को पढ़ने की अनुमति देने के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार कर रही है।

उन्होंने यह भी बताया कि देश के अलग-अलग हिस्सों में 21 और सैनिक स्कूल खोलने का भी विचार है। हालांकि देशभर से ऐसे 64 प्रस्ताव आए थे। उन्होंने बताया कि नौ सैनिक स्कूलों के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं और तीन स्कूलों के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी जा चुकी है।

Comments

Most Popular

To Top