DEFENCE

इसरो के पूर्व वैज्ञानिक को 1.3 करोड़ का मुआवजा देगी केरल सरकार

इसरो के पूर्व वैज्ञानिक एन नारायणन

तिरुवनंतपुरम। केरल सरकार ने साल 1994 में जासूसी के एक झूठे आरोप में फंसाए गये इसरो के पूर्व वैज्ञानिक एन नारायणन को मुआवजे के तौर 1.3 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया है। 77 वर्षीय नारायणन इसरो में पीएसएलवी रॉकेट, भूस्थिर उपग्रह प्रक्षेपण यान के विकास और अंतरिक्ष अभियानों के लिए क्रायोजनिक इंजन बनाने के शुरुआती चरण से जुड़े थे। उन्होंने अपनी अवैध गिरफ्तारी और परेशान किए जाने के लिए मुआवजा बढ़ाने की अपील की थी।





जिसे लेकर गुरुवार को केरल सरकार की कैबिनेट बैठक में यह निर्णय लिया गया कि कानून विशेषज्ञों से विचार विमर्श के बाद समझौता करार अदालत में पेश किया जाएगा और अदालत के निर्देश अनुरूप आगे की कार्रवाई की जाएगी। सरकार ने नारायणन द्वारा उठाए गये मुद्दों की जांच और मामले को निपटाने की जिम्मेदारी पूर्व मुख्य सचिव जयकुमार को सौंपी थी।

यह मुआवजा उच्चतम न्यायालय के आदेश के मुताबिक 50 लाख रुपये दिये गये और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा 10 लाख रुपये देने की सिफारिश के अतिरिक्त होगा।

Comments

Most Popular

To Top