DEFENCE

भारतीय सैनिकों ने लद्दाख में चीनी सैनिकों को खदेड़ा

भारतीय-सैनिक

नई दिल्ली। डोकलाम मुद्दे पर भारत-चीन पिछले दो महीने से आमने-सामने हैं। लेकिन भारत और चीन की सेनाओं के बीच मंगलवार को पैंगोंग झील के पास टकराव की स्थिति बन गई। पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय क्षेत्र में घुसने की कोशिश की जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों की कोशिशों को नाकाम कर दिया। टकराव लगभग आधे घंटे तक चला और घुसपैठ की कोशिश को असफल होते देख चीनी सैनिकों ने पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। पत्थरबाजी से दोनों ओर के सैनिकों को मामूली चोटें लगने की खबर है।





सेना अधिकारियों के मुताबिक पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों ने सुबह छह बजे से नौ बजे के बीच दो इलाकों- फिंगर-4 और फिंगर- 5 में भारतीय सीमा में घुसने की दो बार कोशिश की पर भारतीय सैनिकों ने उनके प्रयासों को असफल कर दिया।

चीन की ये हरकतें जानबूझकर: सामरिक विशेषज्ञ

  • चीन भारत पर पहले हमला नहीं करना चाहता। इसलिए भारत के खिलाफ छद्म युद्ध छेड़ने की जुगत में लगा है।
  • विशेषज्ञों का मानना है कि चीन की यह सारी उठापटक भारत के साथ जारी डोकलाम गतिरोध के मद्देनजर है। इस विवाद की वजह से चीन बार-बार भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश करता है। इससे पहले भी चीन उत्तराखंड में भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर चुका है।
  • साथ ही चीनी सैनिकों द्वारा पत्थरबाजी की हरकतें असामान्य है। माना जा रहा है कि चीन ने भारत को भड़काने के लिए इस तरह की चाल चली है।
  • जानकार बताते हैं कि सीमा पर सैनिकों का आमना-सामना सामान्य बात है पर जिस तरह की हरकतें चीन कर रहा है, इसे सामान्य घटना के तराजू में नहीं रखा जा सकता।
  • कुछ रक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक भारत, चीन के वन बेल्ट, वन रोड (ओबीओआर) परियोजना का विरोध करता आ रहा है। चीन भारत को ओबीओआर परियोजना के लिए तैयार करने के लिए ही दबाव बनाना चाहता है।
  • उल्लेखनीय है कि जब चीनी सैनिकों ने देखा कि उनके सामने भारतीय सैनिक मानव श्रृंखला बनाकर खड़े हैं तो उन्होंने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने फौरन जवाब दिया।
  • अधिकारियों के अनुसार भारतीय पक्ष ने 1990 के दशक के आखीर में हुई वार्ता के दौरान जब इस क्षेत्र पर दावा किया था तब चीनी सेना ने मेटल-टॉप रोड का निर्माण किया था और इस बात पर जोर दिया था कि यह अक्साई चीन का भाग है।
  • यह घटना ऐसे वक्त पर हुई है जब सिक्किम सेक्टर में दोनों देशों के बीच गतिरोध बना हुआ है। चीनी सैनिक फिंगर- 4 इलाके में घुसने में कामयाब हो गए थे जहां से चीनी सैनिकों को वापस भेजा गया। इस क्षेत्र को लेकर दोनों देशों में कई बार टकराव भी हुए हैं क्योंकि दोनों देश इसे अपने क्षेत्र का हिस्सा बताते हैं।
  • चीन ने फिंगर- 4 तक सड़क निर्माण किया था जो सिरी जैप क्षेत्र में आता है और LAC से पांच किमी की दूरी पर है। इससे पहले चीनी सैनिकों की गश्त इस झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारों से बार-बार होने लगी थी। इस झील का 45 किमी का हिस्सा भारतीय क्षेत्र में है और 90 किमी चीनी क्षेत्र में।

Comments

Most Popular

To Top