DEFENCE

भारत पनडुब्बी से लॉन्च होने वाली न्यूक्लियर मिसाइल K- 4 का करेगा परीक्षण

न्यूक्लियर मिसाइल K- 4
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। इस हफ्ते की आखिर में भारत बंगाल की खाड़ी में अपनी सबसे शक्तिशाली परमाणु प्रतिरोधक मिसाइल का परीक्षण करने जा रहा है। इस टेस्ट के माध्यम से भारत परमाणु हमले की सूरत में अपने जवाबी हमले की क्षमता को आकेंगे।





सूत्रों के मुताबिक सबमरीन से लॉन्च हो सकने वाली K- 4 परमाणु मिसाइल का परीक्षण पूर्वी तट से होने वाला है। यह 3,500 किलोमीटर तक मार करने की क्षमता वाली मिसाइल अरिहंत कलास परमाणु पनडुब्बी के लिए डिजाइन की गई है। DRDO के डिवेलपमेंट ट्रायल के हिस्से के तौर पर इसका पानी के अंदर पंटून से परीक्षण किया जाएगा।

बता दें कि यह परीक्षण परमाणु क्षमता से लैस मिसाइल के संचालन की दिशा में महत्वपूर्ण पड़ाव साबित होगा। K- 4 मिसाइल के अंतिम परीक्षण का प्रयास साल 2017 में किया गया था और इसके डिवेलपमेंट प्रोसेस में तेजी लाने की अपील की गई थी। यह देखते हुए कि दूसरी परमाणु पनडुब्बी ‘आईएनएस अरिघात’ का नाम पूरा होने वाला है तथा जल्द ट्रायल के लिए तैयार हो जाएगी।

गौरतलब है कि भारत ने मिसाइल के ट्रायल की तैयारी के लिए समुद्री जहाजों को पहले ही जानकारी दे दी है। इसने एयरमैन को हिंद महासागर तक फैले तीन हजार किमी लंबे उड़ान मार्ग को बंद करने के लिए नोटिस भेजा है। K- 4 के पहले तीन पीरक्षण किए गए हैं और इसे असल गेम चेंजर माना जाता है। और यह देश का जवाबी हमले का विकल्व देगा। भारत के पास आईएनएस अरिहंत में एक ऑपरेशन SLBM (K-15) है। इसकी मारक क्षमता 750 किमी है जो फिलहाल जवाबी हमले पर एक्शन लेती है।

Comments

Most Popular

To Top