Army

1,400 किमी लंबी सीमा पर भारत ने तैनात किए सैनिक

भारतीय सेना के जवान

नई दिल्ली। डोकलाम मुद्दे पर जारी तनाव के बीच भारत ने सतर्कता और सुरक्षा के मद्देनजर सिक्किम और अरूणाचल प्रदेश से लगी चीन की सीमा के इर्दगिर्द समूचे इलाके में और ज्यादा सैनिकों की तैनाती की है। वरिष्ठ सरकारी ऑफिसरों के मुताबिक सैनिकों का ‘चौकसी लेवल’  भी बढ़ा दिया गया है। भारत के खिलाफ चीन के आक्रामक रवैये को देखते हुए सिक्किम से लेकर अरूणाचल प्रदेश तक भारत-चीन की करीब 1400 किमी लंबी सीमा के पास के क्षेत्रों में सैनिकों की तैनाती बढ़ाने का फैसला किया गया।





ऑफिसरों ने नाम का खुलासा नहीं करने की शर्त पर कहा कि सिक्किम और अरूणाचल में चीनी सीमा के करीब सैनिकों के स्तर को बढ़ा दिया गया है। भारतीय थलसेना के सुकना स्थित 33 कोर के साथ-साथ अरूणाचल प्रदेश और असम स्थित 3 और 4 कोर को पूर्वी क्षेत्र में भारत-चीन की संवेदनशील बॉर्डर की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है।

अधिकारियों ने तैनात किए गए सैनिकों का आंकड़ा या सैनिक बलों में कितना फीसदी इजाफा किया गया है इसे बताने से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन से जुड़े ब्योरे का खुलासा नहीं किया जा सकता। एक्सपर्ट के मुताबिक मौसम से तालमेल बिठाने की प्रक्रिया पूरी कर चुके जवानों सहित करीब 45,000 जवानों को हर वक्त सीमा पर तैनात मुस्तैद रखा जाता है, लेकिन जरूरी नहीं है कि उन्हें तैनात किया ही जाए। समुद्र तल से 9 हजार फुट से भी ज्यादा की ऊंचाई पर तैनात फौजियों को मौसम से तालमेल को लेकर 14 दिनों की लंबी प्रक्रिया से गुजरना होता है।

हालांकि, अधिकारियों ने कहा, डोकलाम में ट्राई जंक्शन पर सैनिकों की तादाद नहीं बढ़ाई गई है। डोकलाम में करीब आठ हफ्ते से लगभग 350 जवानों की ड्यूटी है। 16 जून को चीनी सेना को वहां एक सड़क बनाने से रोक दिया था तब से उनकी ड्यूटी वहां पर लगा दी गई है।

Comments

Most Popular

To Top