DEFENCE

प्रगति मैदान में सुरक्षा प्रदर्शनी ने खींचा लोगों का ध्यान

नई दिल्ली। प्रगति मैदान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा एक्सप्रो में प्रदर्शित एयरक्राफ्ट साइज, ड्रोन, जूते, हेलमेट, आतंकरोधी उपकरण, हथियार से लैस रोबोट तथा सामरिक व सुरक्षा की नजर से उपयोगी साजो-सामान ने लोगों का ध्यान बखूबी खींचा। प्रदर्शनी में डीआरडीओ, आर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ समेत कई संगठन व कंपनियों ने हिस्सा लिया। प्रदर्शनी आज (7 अक्टूबर) समाप्त हो गई।





खास बात यह रही कि दंगा से निपटने के लिए पीपर स्प्रे ड्रोन और कड़े धूप में तैनात जवान और यातायात कर्मियों को ठंडक मुहैया करने के लिए कूलिंग वेस्ट खास थी। प्रगति मैदान के हॉल संख्या 11 में दंगा नियंत्रक ड्रोन का प्रदर्शन किया गया है। लगभग एक मीटर के आकार वाले इस ड्रोन को 500 मीटर की ऊंचाई तक उड़ाया जा सकता है। वहीं रिमोट द्वारा इसे तीन से चार किमी की दूरी तक संचालित किया जा सकता है। इसमें एक पीपर लिक्विड बाक्स और चार नोजल लगे हुए हैं। दंगा व हंगामे की जगह पर ऊंचाई में ड्रोन को भेजकर इससे पीपर युक्त लिक्विड की बौछार की जा सकती है। सुरक्षा कंपनी एसआरजी के निदेशक ने कहा कि इससे बौछार होते ही लोगों की आंख और स्कीन में जलन शुरू हो जाती है। जिससे वे उस स्थान से भागने में मजबूत हो जाते हैं। लगभग 40 मिनट तक इस ड्रोन को लगातार उड़ाया जा सकता है। इसकी कीमत 25 से 30 लाख के बीच रखी गई है।

कंपनी द्वारा पहली बार लॉन्च किया गया कूलिंग वेस्ट (लिबास) खास कर कड़ी धूप में लगातार तैनात रहने वाले यातायात कर्मियों के लिए खासा उपयुक्त है। इसका इस्तेमाल राजस्थान में 50 डिग्री के तापमान पर गश्त करने वाले अर्धसैनिक बलों के जवानों के लिए भी उपयोगी है। कूलिंग वेस्ट के प्रकार में जैकेट, टोपी, हैंड बैंड और नेक बेल्ट का तैयार किया गया है। 900 ग्राम भार वाली जैकेट पुलिस, जवान व सुरक्षा कर्मियों को 4 घंटे तक शीतलता प्रदान करेगी। इसके पहनने पर बाहर के तापमान से शरीर का तापमान करीब 12 डिग्री तक कम महसूस होगा। पहनने से पहले इन पोशाकों को केवल पानी में डूबोना होगा।

सुरक्षा प्रदान करेगी पोर्टेबल बॉडी लाइट

एक्सपो में प्रदर्शित एक छोटी लाइट सुरक्षाकर्मयों को सड़क पर सुरक्षा के मद्देनजर खासी सहायक है। लाल और नीली रोशनी देने वाली इस छोटी लाइट का वजन महज 50 ग्राम है। जानकारों के मुताबिक यह खास कर रात के समय सड़कों पर तैनात यातायात कर्मियों के लिए उपयोगी है।

क्रमिनल को पकड़ने में मददगार टैक्निकल कार स्टोपर

एसआरजी कंपनी के स्टाल पर टैक्निकल कार स्टोपर भाग रहे अपराधियों को दबोचने में उपयोगी साबित होगी। रिमोट दबाते ही एक छोटे बक्से में बंद पट्टिंयां खुल कर रोड पर बिछ जाएगी। इसमें धातु की नुकीली कील लगी हुई है।

60 सेकेंड में रोकेगा ब्लीडिंग

प्रदर्शनी में ब्लीडिंग को 60 मिनट में रोकने वाला लेप खासतौर पर बॉर्डर और नक्सल इलाकों में तैनात जवानों के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है। सेलोक्स नाम के इस लेप की कीमत मात्र छह हजार रुपये है।

पोर्टेबल लाइट और बम सेफ्टी ब्लैंकेट

प्रगति मैदान के हॉल संख्या 10 में होप नाम की सुरक्षा कंपनी द्वारा प्रदर्शित पोर्टेबल लाइट और बम सेफ्टी ब्लैंकेट खासे पसंद किए जा रहे हैं। पोर्टेबल लाइट का इस्तेमाल जहां आपदा के दौरान तथा बाढ़ ग्रस्त इलाके में किया जा सकता है। यह एक बार चार्ज हो जाने के बाद कई घंटे तक चलती है और 500 मीटर तक रोशनी दे सकती है। कंपनी के निदेशक अनूप साहू ने बताया कि इसके इस्तेमाल से एक किलो TNT (विस्फोटक) को आसानी से निष्क्रिय किया जा सकता है।

Comments

Most Popular

To Top