DEFENCE

सेना के तोपखाने को जल्द मिलेगी होवित्जर, ताकत में होगा इजाफा

होवित्जर तोप
फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच जारी तनातनी के मद्देनजर भारतीय सेना लगातार अपनी ताकत में इजाफा कर रही है। बता दें कि भारतीय सेना के तोपखाने को 400 से अधिक आर्टिलरी गन की आवश्यकता है। इजाराइल से मंगवाई जाने वाली होवित्जर के मुकाबले भारत में बनी गन बेहतरीन विकल्प साबित हो सकती है, क्योंकि इजराइल की होवित्जर के प्रोडक्शन में काफी लंबा वक्त लगेगा।





सेना की जरूरत को पूरा करने के लिए डीआरडीओ की ओर से कहा गया है कि वह 18 माह में ही 200 से अधिक एडवांस टावर आर्टिलरी गन सिस्टम होवित्जर तैयार कर सकता है। महाराष्ट्र के अहमदनगर में इसका ट्रायल भी शुरू हो चुका है।

मीडिया खबरों के मुताबिक भारतीय सेना भारत में बनने वाली एक इजराइली बंदूक का विकल्प देख रही है क्योंकि इजराइल की होवित्जर के उत्पादन में ज्यादा वक्त लगेगा जबकि डीआरडीओ होवित्जर प्रोजेक्ट को भारतीय सेना के लिए जल्द पूरा करने में सक्षम है।

डीआरडीओ की ओर से तैयार किए जा रहे होवित्जर अपनी श्रेणी की सबसे लंबी दूरी तक मार करने वाली होवित्जर है। उल्लेखनीय है कि इजराइल से मंगाई जाने वाली होवित्जर गन को एक लंबी खरीद प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है जिसकी वजह से काफी ज्यादा समय लग जाता है। बता दें कि भारतीय सेना जल्द से जल्द इन आधुनिक होवित्जर को हासिल कर सीमा पर तैनात करना चाहती है। रक्षा मंत्री ने भी यह साफ कर दिया है कि आयात पर स्वदेशी उत्पादों को प्राथमिकता दी जाएगी और मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए सभी कोशिश किए जाएंगे।

Comments

Most Popular

To Top