DEFENCE

9 बातें : अगर परमाणु युद्ध छिड़ा तो कैसा होगा धरती का मंजर !

Hiroshima

आज से 73 वर्ष पहले 6 अगस्त 1945 को अमेरिका ने जापान के शहर हिरोशिमा पर परमाणु बम गिराया था। तीन बाद नागासाकी पर भी परमाणु बम से हमला किया गया। लाखों लोग मारे और हमले में बच गए लोगों का शेष जीवन बेहद कष्ट में बीता। इन हमलों ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया। शीतयुद्ध के दिनों में परमाणु हथियारों के निर्माण की मानो होड़ ही लग गई। पिछले कई बरसों से परमाणु हथियारों के खिलाफ माहौल बना है लेकिन इसके बावजूद परमाणु हथियारों से मुक्त दुनिया अभी कल्पना ही है। परमाणु हथियारों की आज एक राजनीतिक मुद्दे के रूप में दुनिया में महत्वपूर्ण भूमिका है क्योंकि अगर व्यापक जनसंहार के ये हथियार गलत हाथों में पड़ गए तो कितने खतरनाक साबित हो सकते हैं, इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। यहां प्रस्तुत हैं वे 10 तथ्य, जो आप परमाणु हथियारों के बारे में जानना चाहेंगे।





4 मिनट में लॉन्चिंग प्वाइंट से 1,000 मील दूर स्थित लक्ष्य पर निशाना

हिरोशिमा और नागासाकी अटैक

हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमला

यह इसका एक बड़ा प्रमाण है कि अब मिसाइल टेक्नोलॉजी कितनी उन्नत हो गई है। अगर परमाणु युद्ध भड़क उठा (चूंकि अधिकांश परमाणु नीतियां इसी पर आधारित हैं कि अगर उन पर हमला हुआ तो वे भी इसका जवाब देंगे) तो यह दुनिया 90 मिनटों में रहने लायक नहीं रह जाएगी। सिर्फ 4 मिनट में 1,000 मील की दूरी पर स्थित निशाना भेदा जा सकता है।

Comments

Most Popular

To Top