Army

पत्नी से जल्द लौटने का किया था वादा, तिरंगे में लिपटा आया जवान का पार्थिव शरीर

शहीद सौरभ कटारा की अंतिम विदाई

जयपुर। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में मंगलवार को सेना की 28वीं राष्ट्रीय राइफल के जवान सौरभ कटारा कुपवाड़ा मे हुए एक बम धमाके मे शहीद हो गए। 22 वर्ष के शहीद जवान सौरभ कटारा राजस्थान के भरतपुर जिले के रहने वाले थे। इसी माह 8 दिसंबर को उनका विवाह पूनम देवी से हुआ था। अपनी पत्नी से जल्द मिलने का वादा कर वह 16 दिसंबर को अपनी ड्यूटी पर कुपवाड़ा लौट गए थे।





 

शहीद सौरभ पत्नी के साथ

शहीद सौरभ पत्नी के साथ

 

बता दें कि बुधवार को उनका जन्मदिन था और पूरा परिवार उनके जन्मदिन की तैयारियां कर रहा था कि इतने में उनके परिवार को यह दुखद समाचार मिला की वह एक बम विस्फोट मे शहीद हो गए है। यह खबर सुनते ही पूरे परिवार और गांव में मातम पसर गया।

अभी उनकी पत्नी पूनम के हाथों के मेहंदी का रंग भी फिका नहीं पड़ा था कि उनके पति के शहीद होने की खबर ने उन पर दुखों का पहाड़ गिरा दिया। शहीद जवान कटारा के पिता नरेश कटारा भी सेना से रिटायर है और वह साल 1999 में हुए करगिल युद्ध का हिस्सा भी रहे है। उन्होंने कहा की मुझे अपने बेटे की शहादत पर फक्र है। मैं अपने छोटे बेटे को भी देश सेवा के लिए सेना में भेजूंगा।
शहीद सौरभ कटारा को अंतिम विदाई देने के लिए उनकी पत्नी व परिवारजनों के साथ पूरा गांव उमड़ गया और नम आखों से सबने शहीद सौरभ कटारा को अंतिम विदाई दी।

Comments

Most Popular

To Top