Army

Special Report: चीनी सैनिकों का मुकाबला करने वाले जवानों को मिले वीरता पदक

सेना पदक
फाइल फोटो

स्वतंत्रता दिवस





नई दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस पर हर साल सैन्य संघर्ष में वीरता का प्रदर्शन करने वाले जवानों को वीरता के पदक से सम्मानित किया जाता है। इस बार भी पूर्वी लद्दाख की जिन पर्वतीय चोटियों पर भारत- तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने चीनी सैनिकों का मुकाबला किया उन्हें शौर्य पदक से सम्मानित किया जाएगा।

रक्षा मंत्रालय ने इस मौके पर जो जानकारी दी है उससे पता चलता है कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय सैनिकें ने अपनी वास्तविक नियंत्रण रेखा की चौकसी करने के दौरान एक दो बार नहीं बल्कि कई बार चीनी सैनिकों के साथ मुठभेडें की हैं औऱ इस दौरान दोनों पक्षों के लोग घायल भी हुए हैं।

इस मौके पर भारत तिब्बत सीमा पुलिस ने वीरता के पदकों की सिफारिश की है। इसके अलावा महानिदेशक की ओर से 294 जवानों की वीरता की सराहना करने की सिफारिशें की गई है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक भारत तिब्बत सीमा पुलिस ने न केवल आगे बढ़ रहे चीनी सैनिकों को रोका और उनका डटकर मुकाबला किया और हालात को काबू में किया। आईटीबीपी के जवानों को ऊंचाई वाले पर्वतीय इलाकों में सैन्य कार्रवाई की विशेष ट्रेनिंग मिली है जिसकी वजह से भारतीय जवानों ने चीनी पीएलए के सैनिकों को दूर रहने को मजबूर किया। जवानों की बहादुरी की वजह से कई इलाकों में चीनी सैनिकों को पूरी रात 12 से 13 घंटे तक दढ़ता से मुकाबला किया और उन्हें पीछे हटने को मजबूर किया। इनकी बहादुरी की वजह से कई इलाकों की रक्षा की जा सकी।

Comments

Most Popular

To Top