Army

स्पेशल रिपोर्ट: पाकिस्तान ने दो महीनों में किए 646 बार संघर्षविराम उल्लंघन

भारतीय सेना के जवान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। साल 2019 के दौरान पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम का रिकार्ड 1,586 बार उल्लंघन किया है लेकिन मौजूदा साल के पहले दो महीनों में ही इन वारदातों में भारी इजाफा करते हुए 646 बार संघर्षविराम तोड़े गए ।





रक्षा राज्य मंत्री श्रीपाद नायक ने लोकसभा में सवालों के जवाब में यह जानकारी देते हुए बताया कि 05 अगस्त, 2019 से 31 दिसम्बर, 2019 के बीच सीमा पार गोलीबारी की 132 वारदातें हुईं। इसके बाद एक जनवरी, 2020 से 23 फरवरी तक सीमा पार गोलीबारी की 41 वारदातें हुईं। रक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के साथ 23 मुठभेड़ हुईं। इनमें 45 आतंकवादियों को ठिकाने लगाया गया और सुरक्षा बलों के सात जवान शहीद हुए।

संघर्षविराम के हनन के जवाब में भारतीय सेनाओं ने समुचित जवाब दिये। पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम की वारदातों के सभी मसलों को हॉटलाइन, ध्वज बैठकें, सैन्य संचालन के महानिदेशक और राजनयिक माध्यमों की स्थापित प्रक्रिया के अनुरूप समुचित स्तर पर उठाया गया।

साल 2017 के दौरान आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में 213, 2018 में 257 और 2019 में 157 आतंकवादी मारे गए। इन कार्रवाई के दौरान भारतीय सुरक्षा बलों को भी कुर्बानी देनी पड़ी। 2017 के दौरान 80, 2018 के दौरान 91 और 2019 के दौरान 80 सैनिक शहीद हुए। श्रीपाद नायक ने बताया कि आतंकवादियों के सम्भावित हमलों के मद्देनजर सुरक्षा बल समुचित तैयारी करते हैं।

Comments

Most Popular

To Top