Army

स्पेशल रिपोर्ट: लद्दाख दौरे पर सेना प्रमुख ने गलवान सैनिकों का बढ़ाया मनोबल

सेना प्रमुख नरवणे ने जवानों से की मुलाकात

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख के तनावग्रस्त सीमांत इलाकों में भारतीय सैनिक तैयारी की समीक्षा, हालात का जायजा लेने और सैनिकों का मनोबल बढ़ाने के लिये थलसेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने लेह का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने  गलवान घाटी में चीनी सैनिको के साथ हुई झड़प में घायल सैनिकों को अस्पताल जा कर देखा।





यहां थलसेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि थलसेना प्रमुख ने पूर्वी लद्दाख के जमीनी हालात और सैन्य तैयारी पर वहां भारतीय  थलसेना के आला अफसरों के साथ समीक्षा की। उन्होंने सैनिकों के उच्च मनोबल के लिये सराहना की और उन्हें उत्साह और जोश के साथ देश के लिये अपनी ड्यूटी करते रहने के लिये प्रेरित किया।

इस दौरान थलसेना प्रमुख ने गलवान घाटी में झड़प में घायल  सैनिकों को प्रशंसा पत्र वितरित किये। इस बारे में थलसेना के एक अधिकारी ने बताया कि सामान्य तौर पर  मैदानी सैन्य शिविरों के दौरे में  सैनिकों को असाधारण ड्यूटी के लिये प्रशंसा कार्ड वितरित करते हैं।

गौरतलब है कि गत 15 जून को गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच हुई खूनी झड़प के बाद  भारत चीन सीमा पर भारी तनाव बना हुआ है। इस मसले पर चर्चा के लिये 22 जून को लेह स्थित 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह  औऱ शिन्च्यांग इलाके के चीनी कमांडर मेजर जनरल ल्यू लिन के साथ बातचीत हुई है जिसे दोनों पक्षों ने सकारात्मक बताया है। इस बातचीत में दोनों पक्षों में सहमति बनी है कि संघर्ष के सभी इलाकों से वे अपने सैनिकों को पीछे हटा लेंगे।

Comments

Most Popular

To Top