Army

Special Report: सैन्य इंजीनियरी सेवा में 9,304 पद होंगे रद्द

भारतीय सेना का काफिला
फाइल फोटो

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय के तहत मीलिट्री इंजीनियरिंग सेवा (MES) में 9304 पद अब नहीं भरे जाएंगे। मीलिट्री इंजीनियर सर्विस के इंजीनियर इन चीफ ने इस आशय का प्रस्ताव किया था जिसे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंजूर कर लिया है।





ये पद इंजीनियरी सर्विस के बेसिक और इंडस्ट्रियल वर्क फोर्स के तहत थे जिन्हें समाप्त करने की सिफारिश इंजीनियर इन चीफ ने की। यह सिफारिश लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) शेकातकर की अध्यक्षता में गठित विशेषज्ञों की समिति द्वारा की गई सिफारिशों के अनुकूल है। इस समिति से कहा गया था कि सशस्त्र सेनाओं की समाघात क्षमता बढाने और रक्षा खर्च को पुर्नसंतुलन प्रदान करने के लिये रिपोर्ट पेश करे।

इस समिति द्वारा की गई सिफारिशों में यह था कि सेनाओं में नागरिक कार्यबल को इस तरह पुनर्गठित किया जाए कि मिलिट्री इंजीनियरी सर्विस का काम आंशिक तौर पर स्टाफ द्वारा करवाया जाए और बाकी का काम बाहर से आउटसोर्स कर लिया जाए। एमईएस में कुल 13,157 पद खाली थे जिसमें से 9,304 पद नहीं भरे जाएंगे। उक्त आशय की सिफारिश एमईएस को एक सक्षम संगठन बनाने के इरादे से की गई। इसके तहत संगठन का ढांचा पतला बनाया जाएगा जो जटिल मसलों को प्रभावी तरीके से वक्त पर निबट सके।

Comments

Most Popular

To Top