Army

दुनिया में दी जाती है जिसकी मिसाल, 9 खास बातें

देश की खातिर मर-मिटने की जब भी बात होती है सिख योद्धा सबसे आगे नजर आते हैं। हवलदार ईशर सिंह, मेजर बाना सिंह और कुलदीप सिंह चांदपुरी सरीखे सिख वीरों ने अपने अतुलनीय पराक्रम से अनेक बार असंभव को संभव कर दिखाया है। इतिहास के पन्नो में दर्ज उस सारागढ़ी की जंग को कौन भुला सकता है ? जब महज 21 सिख योद्धाओं ने हजारों अफगानों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था। दुश्मन ने जब भी आंख उठाने की कोशिश की है भारतीय सेना की सिख रेजीमेंट ने उसे मुंह तोड़ जवाब दिया हैं। आइये जानते हैं इस रेजिमेंट से जुड़ी कुछ खास बातेंः





डेढ़ सौ साल पुराना है रेजिमेंट का इतिहास

सिख रेजिमेंट भारतीय सेना की एक पैदल सेना रेजिमेंट है, जिसमें सिख समुदाय से सैनिक भर्ती होते हैं। इस रेजिमेंट की कई अद्वितीय कहानियां हैं। इस रेजिमेंट का इतिहास करीब डेढ़ सौ वर्ष पुराना है। रेजिमेंट की पहली बटालियन अंग्रेजों द्वारा 1846 में सिख साम्राज्य के विलय से पहले बनाई गई थी।

Comments

Most Popular

To Top