Army

जम्मू-कश्मीर: नवाकदल मुठभेड़ में मारे गए 2 आतंकी में एक हुर्रियत प्रमुख का बेटा भी

अलगाववादी नेता मोहम्मद अशरफ सहराई का आतंकी पुत्र जुनैद सहराई
फाइल फोटो

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता मोहम्मद अशरफ सहराई का आतंकी पुत्र जुनैद सहराई अपने एक साथी संग श्रीनगर के डाउन-टाउन में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। मुठभेड़ में 03 सुरक्षाकर्मी भी घायल हो गए। इस दौरान आतंकी ठिकाना भी बम धमाके में तबाह हो गया।





मीडिया खबरों के मुताबिक शरारती तत्वों ने हिजबुल आतंकी जुनैद व उसके साथी को बचाने के लिए मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों पर पथराव भी किया पर सुरक्षाबलों ने बल प्रयोग कर उन्हें भागने को मजबूर कर दिया। सुरक्षाबलों के साथ हिंसक झड़पों में 03 लोग घायल भी हुए हैं।

आतंकी रियाज नायकू की मौत के बाद जुनैद सहराई का मारा जाना हिजबुल मुजाहिदीन के लिए एक बड़ा झटका बताया जा रहा है। जुनैद सहराई को नायकू की मौत के बाद कश्मीर में हिजबुल का डिप्टी ऑपरेशन चीफ कमांडर बनाए जाने की चर्चा थी। घाटी में सुरक्षाबलों द्वारा बीते हफ्ते बनाई गई 10 मोस्ट वांटेड आतंकी की सूची में वह पहले 03 आतंकियों में एक था। सुरक्षाबलों ने उस पर 07 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

गौरतलब है कि मार्च, 2018 में आतंकी बनने वाला जुनैद सहराई बीते 02 दशकों के दरम्यान कश्मीर में सक्रिय किसी प्रमुख अलगाववादी नेता का पहला पुत्र था। उसके पिता मो. अशरफ सहराई जमात-ए-इस्लामी के पुराने और सक्रिया कार्यकर्ताओं में एक हैं। साल 2004 में जब कट्टरपंथी सईद अली शाह गिलानी ने तहरीके हुर्रियत कश्मीर नामक अलगाववादी संगठन बनाया तो जमात की अनुमति से अशरफ सहराई उसका हिस्सा बने थे। तकरीबन 02 साल पहले ही गिलानी ने सहराई को तहरीके हुर्रियत का चेयरमैन नियुक्त किया है।

Comments

Most Popular

To Top