Army

भारतीय सेना ने 2 आतंकी मार गिराए, घुसपैठ का प्रयास किया नाकाम

जम्मू-कश्मीर में जवान

श्रीनगर। भारतीय सेना ने रविवार को उत्तरी कश्मीर के उड़ी सेक्टर में LoC पर घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है। पाकिस्तान में प्रशिक्षित दो आतंकियों को सेना ने मार गिराया है। इसी बीच केंद्रीय वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा आज (सोमवार) कश्मीर मिशन के लिए पहुंच रहे हैं। चार दिन तक कश्मीर में वह 40 प्रतिनिधिमंडलों से मिलेंगे। अलगाववादी खेमें ने वार्ता का बहिष्कार कर रखा है। सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने अभी बैठक की जगह की जानकारी नहीं दी है। वार्ता को देखते हुए पूरे घाटी में सुरक्षा-व्यवस्था और चौकसी बढ़ा दी गई है।





नियंत्रण रेखा पर मारे गए आतंकियों के अन्य साथियों की खोजबीन के लिए सेना ने बॉर्डर से सटे क्षेत्रों को घेरा हुआ है। वहीं राज्य के पुलिस महानिदेशक डॉ. एसपी वैद ने ट्वीट कर इस घुसपैठ की कोशिश को पाकिस्तान सेना का बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) का एक्शन करार दिया है, जिसे सेना पूरी तरह से नाकाम बनाया है। दूसरी तरफ सैन्य अधिकारियों के मुताबिक यह बैट दस्ता नहीं था बल्कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद फैलाने आ रहे 5-6 आतंकियों का एक दल था जिनमें दो आतंकी मारे गए और अन्य वापस भाग निकले हैं।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि रविवार को उड़ी सेक्टर में नियंत्रण रेखा से सटे दुलांजा गांव के आगे ड्यूटी पर तैनात सेना के जवानों ने तड़के गुलाम कश्मीर से कुछ संदिग्ध गतिविधियां देखीं। उन्होंने उसी वक्त नजदीक की चौकियों को अलर्ट कर खुद वहां नाका लगाया। कुछ देर बाद जवानों ने घुसपैठियों के एक ग्रुप को भारतीय क्षेत्र में घुसते देखा। जवानों ने उसी समय घुसपैठियों को ललकारा और वहां मुठभेड़ शुरू हो गई जो सुबह 7:30 बजे तक चली।

आतंकियों की तरफ से गोलियां चलना रूकने के बाद कुछ देर तक जवानों ने इंतजार किया और फिर उन्होंने मुठभेड़ स्थल की तलाशी शुरू की। जवानों को वहां दो शव मिले। मारे गए आतंकियों के पास से दो एसाल्ट रायफलें, आठ मैगजीन, चार हथगोले, कुछ नक्शे, तार काटने का सामान, सूखे मेवे, फोन, दवाएं और एक डायरी बरामद की गई। पूरे इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन जारी है।

Comments

Most Popular

To Top