Army

कोरोना वायरस के खिलाफ मैदान में भारतीय सेना, बाड़मेर में संभाला आइसोलेशन की बागडोर

सेना ने संभाला आइसोलेशन का बागडोर

जोधपुर। भारत सरकार ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए विदेश में फंसे हर भारतीय नागरिकों को स्वदेश लाने की तैयारियां तेज कर दी है। देश में बड़ी तादाद में लोगों को आइसोलेशन सेंटर में रखने के लिए सेना भी मुस्तैद है। जैसलमेर में 1,000 से अधिक लोगों को आइसोलेशन में रखने की तैयारियों के बाद अब सेना ने बाड़मेर में भी इसी तरह की तैयारी की है।





कोरोना की आहट के मद्देनजर भारतीय सेना ने एक महीना पहले से अपनी तैयारी शुरू कर दी थी। इस कड़ी में जोधपुर व जैसलमेर में सेना ने अपनी यूनिटों को अन्यत्र शिफ्ट कर एक-एक हजार से अधिक लोगों को रखने के लिए विश्वस्तरीय सुविधाएं विकसित की है। फिलहाल जैसलमेर में ईरान से लाए गए 484 भारतीय नागरिकों आइसोलेशन में रखा गया है। फिलहाल जोधपुर में किसी को नहीं रखा गया है। अब सेना ने बाड़मेर में भी इसी तर्ज पर एक वेलनेस सेंटर कम आइसोलेशन वार्ड तैयार कर लिया है।

बाड़मेर जिला कलेक्टर अंशदीप ने सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर सैन्य क्षेत्र विकसित किए गए आइसोलेशन सेंटर के बारे में विस्तार से चर्चा की। कहा जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर एहतियात के तौर पर सेना ने इसकी तैयारी की है ताकि आपदा की स्थिति में फौरन लोगों को आइसोलेशन में रखा जा सके।

गौरतलब है कि जैसलमेर में सेना वेलनेस सेंटर में रह रहे 484 भारतीय नागरिकों को बेहतरीन सुविधाएं प्रदान की गई है। इस सेंटर में महिला और पुरुषों को अलग-अलग रखा हुआ है। य़हां हर 20 लोगों पर एक डॉक्टर सहित कार्यवाहक 07 जनों की टीम देखरेख कर रही है। साथ ही साथ सभी लोगों को पौष्टिक आहार मुहैया करवा रही है।

Comments

Most Popular

To Top