Army

भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनात जवान की गुहार

जवान विट्ठल कड़ाकोल

श्रीनगर। भारत-पाक सीमा पर तैनात एक जवान ने मदद के लिए गुहार लगाई है कि कोई बूढ़े मां-बाप की मदद करे। जवान विट्ठल कड़ाकोल श्रीनगर में तैनात हैं। इस जवान ने वीडियो मैसेज में कहा है कि गांव में उसके मां-बाप को गांव के ही कुछ दबंग परेशान कर रहे हैं और हमारी जमीन हड़पने के फिराक में है। जवान का कहना है कि वो जान हथेली पर रखकर सीमा पर देश के दुश्मनों से लोहा ले रहा है लेकिन यहां गांव में अपने ही लोग मेरे घरवालों के लिए मुसीबत का सबब बने हुए हैं।





जवान विट्ठल कर्नाटक के बेलागावी में टोटागट्टी गांव के रहने वाले हैं। जवान का कहना है कि उसके माता-पिता को गांव से बहिष्कृत कर दिया गया है। उनसे अब न तो कोई बात करता है और न ही उन्हें गांव के सार्वजनिक कुएं के इस्तेमाल की इजाजत है या फिर मंदिर में जाने की अनुमति है।

सैनिक के मुताबिक जमीन के एक हिस्से के लिए उसके मां-बाप को धमकाया जा रहा है। पंचायत भी गांव के दबंगों की मदद कर रही है। गांव में मां-बाप की जमीन को जबरदस्ती छीनने की कोशिश की जा रही है। विट्ठल ने कहा कि पंचायत चाहती है कि वो जमीन उसे दे दी जाए ताकि आंगनबाड़ी स्कूल के लिए रास्ता बनाया जा सके।

जवान विट्ठल के माता-पिता

जवान विट्ठल के माता-पिता (फाइल फोटो)

जवान के अनुसार घरवालों को परेशान करने की खबर सुनकर वह आपातकालीन छुट्टी लेकर आया था लेकिन 27 अगस्त को उसकी छुट्टियां खत्म हो रही हैं। अब उसे ये डर सता रहा है कि उसकी गैरमौजूदगी में फिर से कहीं न उसके मां-बाप को परेशान किया जाए। ऐसे में जवान ने प्रशासन से मदद की गुहार की है।

वीडियो के मद्देनजर जिला प्रशासन ने बयान जारी कर कहा है कि वो इस मामले पर अपनी नजर बनाए हुए है। ऑफिसरों का कहना है कि सैनिक के माता-पिता को किसी भी बात के लिए  बहिष्कृत नहीं किया गया है। वहीं विट्ठल के पिता ने प्रशासन को चिट्ठी लिख कर कहा है कि या तो इस मामले में दोषियों को सजा दी जाए या फिर उन्हें अपनी मर्जी से सुसाइड करने दिया जाए।

Comments

Most Popular

To Top