Army

थल सेना प्रमुख नरवणे ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में सुरक्षा के हालात की समीक्षा की

थलसेना प्रमुख नरवणे

दीमापुर। थल सेना अध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे पूर्वोत्तर क्षेत्र में सुरक्षा की स्थितियों की समीक्षा के लिए 03 दिवसीय यात्रा पर 23 नवंबर 3 दिन की यात्रा पर नागालैंड के दीमापुर पहुंचे हैं। दीमापुर पहुंचने पर सेना प्रमुख को पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान और स्पीयर कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल आर.पी. कलीता द्वारा उत्तरी सीमाओं पर परिचालन संबंधी तैयारियों और असम, नागालैंड, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश के आंतरिक क्षेत्रों में परिचालन के संबंध में जानकारी प्रदान की गई। थल सेना प्रमुख को नागा शांति वार्ता की प्रगति के बारे में भी बताया गया।





सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने 24 नवंबर को नागालैंड और मणिपुर में सेना और असम राइफल्स के मुख्यालय का भ्रमण कर मैदानी स्थितियों का प्रत्यक्ष आकलन किया। उन्होंने दूरस्थ क्षेत्रों में तैनात सेना के जवानों से विस्तृत चर्चा की तथा उनकी परिचालन संबंधी तैयारियों, मनोबल और उनके जन हितैषी अभियानों की सराहना की। बाद में शाम को जनरल नरवणे ने नागालैंड के राज्यपाल महामहिम श्री आर.एन. रवि और मुख्यमंत्री श्री नेफ्यूरियो से मुलाकात की और राज्य में सुरक्षा के हालात के संबंध में चर्चा की तथा उन्हें राज्य में शांति व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही भारत-म्यांमार सीमा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सेना और असम राइफल्स के पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया।

सेना प्रमुख 25 नवंबर को नई दिल्ली वापस लौटने के पूर्व कोहिमा में निराश्रित बच्चों के लिए नई आवासीय सुविधा का उद्घाटन करेंगे। इस सुविधा का संचालन असम राइफल्स के द्वारा किया जाएगा। सेना द्वारा समाज के सभी वर्गों के विकास और उन्हें समान अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में योगदान के प्रयासों के तहत इस सुविधा का निर्माण किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top