Forces

चीन पर नजर रखने के मकसद से -40 डिग्री सर्दी से मुकाबले के लिए सेना है तैयार

-40 डिग्री में सर्दी से मुकाबले के लिए सेना है तैयार
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में पिछले 06 महीने से ज्यादा समय से तैनात सैनिकों के सामने इस वक्त सबसे अहम चुनौती भीषण ठंड से मुकाबले की है। बता दें कि भारतीय सेना ने इसकी तैयारी जुलाई से ही शुरू कर दी थी। पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच गर्मियों में शुरू हुआ विवाद थमता नहीं दिख रहा है। इस लिए 50 हजार जवान अभी भी यहां तैनात हैं।





मीडिया खबरों के मुताबिक सैनिकों के लिए खास कपड़े और टेंट खरीदे गए हैं जिनमें शून्य से 40 डिग्री नीचे के तापमान में आराम से रहा जा सकता है। लद्दाख के गलवान वैली, पैंगाग और दक्षिणी पैंगाग के इलाकों में तापमान -20 से -25 तक गिर गया है और इस इलाके में विंड चिल फैक्टर  से तापमान 5 से 10 डिग्री और गिर जाता है। नवंबर के बाद तेज बर्फबारी शुरू हो जाएगी और 40 फीट तक बर्फ पड़ने की आशंका रहती है। इतनी सर्दी में किसी सैनिक का इन इलाकों में अधिक समय तक तैनात रहना शारीरिक तौर पर काफी मुश्किल है।

गौरतलब है कि एक बड़े ऑपरेशन के तहत राशन, केरोसिन हीटर, खास कपड़े, टेंट्स और ददवाइयों को पूरी सर्दी के लिए जमा कर लिया गया है। बेहद सर्द मौसम में जवानों के इस्तेमाल के लिए खास कपड़ों के 11,000 सेट हाल ही में अमेरिका से लिए गए हैं। वहीं हाई ऑल्टेट्यूड और सुपर हाई ऑल्टेट्यूड में तैनात जवानों के लिए गरम रहने वाले टैंट और साथ-साथ लद्दाख में तैनात सभी जवानों के लिए स्मार्ट कैंप तैयार कर लिए गए हैं। जिनमें बिजली, पानी, हीटर, स्वच्छता और स्वास्थ्य संबंधी सभी जरूरतों को पूरा कर लिया गया है।

Comments

Most Popular

To Top