Army

सेना कैंप पर हमला: आतंकियों के खात्मे के लिए उतारे गए वायुसेना के कमांडोज

पैरा कमांडोज

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में शनिवार को लड़के जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने जम्मू शहर सुंजावां में स्थित भारतीय सेना के एक शिविर पर हमला कर दिया। इस हमले में सेना का एक जवान शहीद हो गया है। सेना के प्रवक्ता ने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है और ऑपरेशन अब भी जारी है। ज्यादातर फ्लैटों को खाली करा लिया गया है। जो पांच लोग घायल हुए हैं उनमें एक कर्नल रैंक के आर्मी ऑफिसर, हवलदार अब्दुल हमीद, लांस नायक बहादुर सिंह और सूबेदार चौधरी की बैटी शामिल है।





पैरा कमांडोज

इस बीच कहा जा रहा है कि आतंकियों के कब्जे में कोई बंधक नहीं है। कुल 26 में से 19 फ्लैट खाली करा लिए गए हैं। सेना कैंप के अंदर मौजूद आतंकियों को खदेड़ने के लिए ऑपरेशन तेज हो गया है। QRT की 04 टीमों को सेना के कैंप के भीतर भेजा गया है। ऑपरेशन के लिए पैरा कमांडो को भी तैनात कर दिया गया है। वायुसेना के पैरा कमांडो को उधमपुर और सरसाव से जम्मू बुलाया गया है। जिसमें घर में आतंकियों के छिपे होने की आशंका है उसे चारों ओर से घेर लिया गया है।

कमांडोज

गृह मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय पूरे वारदात पर नजर बनाए हुए है। इस बीच आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

सुबह 5 बजे करीब शुरू हुई फायरिंग

यह हमला सुंजवां आर्मी कैंप पर किया गया। आतंकी अंधेरा का फायदा उठाते हुए सुबह 4:55 बजे सेना के कैंप पर गोलीबारी शुरू कर देते हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह हमला कैंप के फैमिली फ्लैट्स पर किया गया।

फरवरी के 9-11 तारीख को था रेड अलर्ट

उल्लेखनीय है कि संसद पर आतंकी हमले के आरोपी अफजल गुरू की 9 फरवरी को बरसी थी। वहीं 11 फरवरी को JKLF के आतंकी मकबूल बट्ट की बरसी भी है। जिसे देखते हुए 9 से 11 फरवरी तक के बीच रेड अलर्ट जारी किया गया था।

 

Comments

Most Popular

To Top