Air Force

स्पेशल रिपोर्ट: वायुसेना ने निर्देशित मिसाइलों का किया अभ्यास

स्वदेशी मिसाइल आकाश के साथ रूसी इगला को लेकर संयुक्त परीक्षण किया गया

नई दिल्ली। जमीन से हवा में मार करने वाले गाइडेड हथियारों के जरिये हवाई लक्ष्यों को मार गिराने का युद्धाभ्यास वायुसेना ने अपने सूर्यलंका वायुसैनिक अड्डे पर 23 नवम्बर से 02 दिसम्बर तक किया। इस अभ्यास का निरीक्षण वायुसेना के वाइस चीफ एय़र मार्शल एच एस अरोडा ने किया।





इस अभ्यास में स्वदेशी मिसाइल आकाश के साथ रूसी इगला को लेकर संयुक्त परीक्षण किया गया और हवाई लक्ष्यों को निशाना बना कर देखा गया। इस तरह वायुसेना को वास्तविक युद्ध जैसे माहौल में वायुसैनिकों को अभ्यास कराया। अभ्यास में हवाई लक्ष्य के तौर पर मैनुवरेल एक्सपेंडेल एरियल टार्गेट (MEAT) का इस्तेमाल किया गया।

यहां वायुसेना के प्रवक्ता ने बताया कि हालांकि देश कोविड महामारी की अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना कर रहा है भारतीय वायुसेना के योद्धा मौजूदा सुरक्षा माहौल के मद्देनजर अपनी समाघात क्षमता को धारदार बनाने में जुटे हुए हैं।

हवाई योद्धाओं को सम्बोधित करते हुए एयर मार्शल अरोड़ा ने भाग लेने वाले लड़ाकू स्क्वाड्रनों की पेशेवर क्षमता की सराहना की। उन्होंने सूर्यलंका हवाई अड्डे के अधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए इस अभ्यास का कुशलतापूर्वक संचालन किया गया। उन्होंने हवाई योद्धाओं से आह्वान किया कि इस युद्धाभ्यास के दौरान जो सबक उन्होंने सीखे, उनका वास्तविक युद्द माहौल में समुचित तरीके से ध्यान में रखकर इस्तेमाल करें।

Comments

Most Popular

To Top