Air Force

Special Report: 36 और राफेल खरीदे जा सकते हैं भारतीय वायुसेना के लिए

लड़ाकू विमान राफेल

नई दिल्ली।  फ्रांस से 36 और राफेल लड़ाकू विमान खरीदे जा सकते हैं। जानकार सूत्रों के मुताबिक सरकार 36 और राफेल लड़ाकू विमानों का सौदा अगले साल तक सम्पन्न कर सकती  है।





गौरतलब है कि तीन साल पहले जिन 36 राफेल लड़ाकू विमानों की सप्लाई का सौदा किया गया था उनमें से पहला विमान आगामी 08 अक्टूबर को वायुसेना दिवस के मौके पर सौंपा जाएगा।  इन 36 विमानों की सप्लाई साल 2022 तक पूरी हो जाएगी।

उल्लेखनीय है कि फ्रांस की दासो कम्पनी से भारत ने तीन साल पहले 36 राफेल लड़ाकू विमानों के  लिये  करीब 7.45 अरब डालर का सौदा किया था। इस सौदे को लेकर  राजनीतिक हलकों में भारी विवाद पैदा हुआ लेकिन इन्हें नजरंअदाज करते हुए सरकार ने फ्रांस से ही 36 औऱ राफेल विमान खरीदने का मन बना लिया है। सूत्रों का कहना है कि जो 36 और राफेल लड़ाकू विमान खरीदे जाएंगे वे पहले जैसे महेंगे नहीं होंगे। दासो कमप्नी को भारतीय डिजाइन औऱ जरुरतों के मुताबिक नये सिरे से राफेल विमान में संशोधन करने पड़े थे जिस पर काफी खर्च हुआ था। भारतीय वायुसेना के लिये राफेल लड़ाकू विमानों की सप्लाई के लिये जो ढांचागत सुविधा फ्रांस की कम्पनी को बनानी पड़ी थी इनका इस्तेमाल 36 और राफेल लड़ाकू विमानों के लिये करने में किया जा सकेगा।

सूत्रों के मुताबिक  भारतीय वायुसेना के लिये 110 लड़ाकू विमानों का जो टेंडर निकाला गया था उसे अंतिम रूप देने में कुछ साल का वक्त लग सकता है और चूंकि भारतीय वायुसेना को लड़ाकू स्क्वाड्रनों में भारी गिरावट के संकट से  जूझना पड़ रहा है इसलिये  वायुसैनिक अधिकारियों ने रक्षा मंत्रालय से आग्रह किया कि  वायुसेना की समाघात ताकत लगातार गिर रही है जिससे बचने के लिये राफेल सौदे को जारी रखा जाए।

 36 और राफेल विमानों के मिलने से वायुसेना की ताकत में भारी इजाफा होगा। सूत्रों के मुताबिक जिन 110 लडाकू विमानों  का टेंडर निकला  गया है उनके लिये सरकार अपनी प्रक्रिया तेज कर रही है। वायुसेना के पास लडाकू विमानों के 42 स्क्वाड्रन होने चाहिये लेकिन इनकी संख्या घट कर 31 पर रह गई है। इसी के मद्देनजर सरकार ने वायुसेना की ताकत जल्द बढाने का फैसला किया है।

राफेल विमानों के अलावा वायुसेना को सुखोई-30 एमकेआई का एक और स्क्वाड्रन रुस  से सीधे आयात करने का फैसला भी सरकार ने पहले ही किया है।

Comments

Most Popular

To Top