Air Force

‘वायुसेना की कमियां दूर कर और सशक्त बनाएगी सरकार’

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली। वायुसेना के तीन दिवसीय कॉन्फ्रेंस के उद्घाटन सत्र के दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण मंगलवार ने कहा कि सरकार एयरफोर्स को और ज्यादा मजबूती प्रदान करेगी। उनका कहना था कि पिछले दशक समय पर फैसले नहीं लेने की वजह से वायुसेना में कुछ कमियां रह गईं हैं लेकिन सरकार इन कमियों को दूर करके एयरफोर्स को और सशक्त बनाएगी।





रक्षामंत्री ने कहा कि वायुसेना को सशक्त बनाने के लिए बजट निर्धारण समस्या नहीं, जो चीजें मजबूती के लिए जरूरी हैं, उनकी खरीद-फरोख्त तत्काल प्रभाव से की जाएगी। उन्होंने कहा कि DRDO और आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के साथ मिलकर वायुसेना पता करे कि ‘मेक इन इंडिया’ के तहत किन जगहों पर काम किया जा सकता है।

वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने बल की ताकत को कामय रखने को लगातार कोशिश व प्रशिक्षण की जरूरत पर जोर दिया। साथ ही वायुसेना की क्षमता बढ़ाने की प्रक्रिया जारी रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि वायुसेना के पास 33 स्कवॉड्रन हैं जबकि उसे ऐसे 42 स्कवॉड्रन चाहिए। वायुसेना सरकार पर दबाव डाल रही है कि उसे लड़ाकू विमान मुहैया कराए जाएं।

गौरतलब है कि चीन और पाकिस्तान से तनाव को देखते हुए वायुसेना की तीन दिवसीय कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया है। पिछले हफ्ते वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा था कि अगर पाकिस्तान और चीन से एक साथ युद्ध छिड़ जाता है तो वायुसेना दोनों मोर्चों पर दुश्मन को नेस्तनाबूद कर सकती है।

कॉन्फ्रेंस में कई ऐसे मुद्दों पर चर्चा होनी है जो भविष्य के लिए मददगार हो सकते हैं। इस दरम्यान ऑपरेशन और मेंटीनेंस पर भी विचार विमर्श होगा। वायुसेना के काम करने के तौर-तरीकों पर भी चर्चा होने की संभावना है। एयर फोर्स सेलुलर नेटवर्क (एएफलसीईएल) के लिए दो मोबाइल एप्लीकेशन भी जारी की जाएंगी। ‘एयरो इंडिया-एसेंट थ्रू द एजेस’ किताब का लोकार्पण भी होगा।

Comments

Most Popular

To Top