Army

LoC पर रात भर सीमा पार से गोलीबारी, सैन्य अधिकारी समेत 4 शहीद

सीमा पर जवाबी कार्रवाई करते जवान

राजौरी। जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना ने रविवार को जमकर फायरिंग करते हुए सीजफायर उल्लंघन किया। इसमें एक सैन्य अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए। फायरिंग में दो सेना के जवान, सीमा सुरक्षा बल का एक ASI और दो स्थानीय नागरिक घायल हो गए। वहीं भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। सीमा पार से इसके बावजूद भारतीय चौकियों और रिहायशी क्षेत्रों में रात भर गोलीबारी की।





खबरों के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने पहले गोलीबारी सुंदरबनी सेक्टर में शुरू की। जम्मू-कश्मीर में सुंदरबनी से लेकर पुंछ तक नियंत्रण रेखा पर पाक सेना ने रविवार को भारी फायरिंग की। इस फायरिंग की वजह से एलओसी के आसपास के कई स्कूल तीन दिनों के लिए बंद कर दिए गए हैं। कुछ दिन शांति के बाद सीमा पर परिस्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार, पाकिस्तानी सेना ने पहले गोलीबारी सुंदरबनी सेक्टर में शुरू की।

राजौरी के जिला आयुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने सुंदरबनी से मंजाकोट सेक्टर तक सीमा से 05 किलोमीटर के दायरे में आने वाले 84 स्कूलों को तीन दिनों तक बंद रखने का आदेश जारी कर दिया है। आयुक्त का कहना है कि अगर इसी प्रकार से गोलीबारी जारी रही तो स्कूलों को आगे भी बंद रखा जा सकता है।

इस भारी गोलीबारी में बीएसएफ के 126वीं बटालियन के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर (ASI) आजाद सिंह जख्मी हो गए। इसके बाद राजौरी के तरकुंडी सेक्टर में पाकिस्तान ने गोले बरसाए। भारतीय सेना की बारूद पोस्ट को काफी नुकसान पहुंचाया। पाकिस्तान की फायरिंग में 15 जैकलाइ यूनिट के कैप्टन कपिल कुंडू निवासी गुरुग्राम, वह 22 साल की उम्र में वीरगति के प्राप्त हुए। कैप्टन कपिल का छह दिन बाद 10 फरवरी को ही 23वां जन्मदिन था। साथ-साथ इस फायरिंग में सिपाही शिवम सिंह, हवालदार राम अवतार व सिपाही रोशन लाल शहीद हो गए। लांस नायक इकबाल अहमद गंभीर रूप से घायल हो गए। उधर, पुंछ के शाहपुर सेक्टर में हुई गोलीबारी में गुलजान व यासिन आरिफ के अलावा सेना का एक जवान किशोर कुमार जख्मी हो गया, जिसे आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

 

Comments

Most Popular

To Top