Featured

भारत-चीन सीमा पर सैन्य सड़कों का मजबूत नेटवर्क बनाए, संसदीय समिति ने कहा

चीन सीमा

नई दिल्ली। विदेश मामलों की संसदीय समिति ने सोमवार को संसद में पेश हुई रिपोर्ट में चीन सीमा पर सड़कों के नेटवर्क पर असंतोष जताते हुए टिप्पणी की है। समिति की टिप्पणी है- भारत चीन सीमा पर सड़कों की आधारभूत संरचना अपर्याप्त है। बदतर स्थिति यह है कि सैन्य यातायात को सह सकने वाली अनेक सड़कें नहीं बनाई गई हैं। 1962 की लड़ाई में चीन ने इस स्थिति का विशेष फायदा उठाया। इस हमें इस मुद्दे पर भूतकाल से सबक लेना चाहिए।





समिति ने डोका ला सहित भारत-चीन संबंधों से जुड़े जटिल मुद्दों पर सिफारिश सरकार को दी है। मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने में चीन के रोड़े को देखते हुए समिति ने कहा कि भारत को भी चीन में मानवाधिकार से जुड़े मसलों को उठाना चाहिए।

समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि हाल ही में डोका ला संकट की स्थिति के संबंध में समिति की यह दृढ़ राय है कि सरकार सीमा सड़कों को दी जाने वाली प्राथमिकता के स्तर को बढ़ाए।

समिति का मानना है कि चीन क्षेत्र में बेहतर सड़कें होने से उसे रक्षा तैयारी के संबंध में ज्यादा फायदा होता है।

Comments

Most Popular

To Top