Featured

स्पेशल रिपोर्ट: चीन की धमकियों के आगे झुकेगा अमेरिका ?

हुवावे

लास  एंजेल्स  से ललित मोहन बंसल

चीनी की एक अग्रणी कम्पनी हुवावे की एक आला अधिकारी की कनाडा में गिरफ्तारी को लेकर चीन ने कनाडा औऱ अमेरिका  को कड़़ी धमकियां दी हैं। यह मसला चीन की इच्छा के अनुरुप नहीं सुलझा तो चीन के कनाडा औऱ अमेरिका के साथ राजनीतिक तनाव  की एक और वजह जुड़ जाएगी। यह मसला तब ख़ड़ा हुआ है जब चीन औऱ अमेरिका के  बीच  व्यापार युद्ध रोकने की अहम बातचीत शुरू होने वाली है। देखना है चीन की आर्थिक औऱ सैनिक ताकत के आगे अमेरिका और कनाडा झुकते हैं या नहीं।





चीनी टेक कंपनी हुवावे  की मुख्य वित्त अधिकारी और उद्यमी 46 वर्षीय सबरिना मंग वांगचओ  की गिरफ़्तारी को लेकर चीन ने कनाडा के साथ-साथ अमेरिका को भी आड़े हाथों लिया है। मंग वांगचओ  को 1 दिसंबर को वेंकूवर हवाई अड्डे पर गिरफ़्तार किया गया था। उसके पास एक नहीं, सात पास पोर्ट थे। इनमें तीन हांगकांग से और चार चीन से। शनिवार को हांगकांग इमीग्रेशन ने बयान में कहा है कि एक चीनी नागरिक एक ही अधिकृत पास पोर्ट रख सकता है। इस पर विधि निर्माताओं ने चीन और हांगकांग प्रशासन से इस रहस्य से पर्दा हटाने को कहा है, वहीं चीनी प्रशासन ने कनाडा से मंग वांगचओ  को तत्काल रिहा किए जाने की मांग की है। रविवार को ट्रेड यूनियन के सैकड़ों सदस्यों ने पेइचिंग  स्थित अमेरिकी दूतावास के बाहर प्रदर्शन कर मंग की रिहाई की मांग की।

वेंकूवर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को वांगचओ की ज़मानत की अर्ज़ी रद्द कर दी थी। ज़मानत की अर्ज़ी का फ़ैसला ‘कुछ और सबूतों’ के अभाव में सोमवार तक के लिए टाल दिया गया था।  मंग को वैंकूवर हवाई अड्डे पर उस समय गिरफ़्तार किया गया था, जब वह विमान बदल रही थीं। मंग वांगचओ की गिरफ़्तारी को ले कर चीन के उप प्रधानमंत्री ली यूछंग ने कनाडा के राजदूत को बुला कर यह चेतावनी दी थी। कनाडा मंग वांगचओ  को अमेरिका प्रत्यर्पण की तैयारी कर रहा है।

कनाडा ने अंतरराष्ट्रीय नियमों के अनुसार वांगचओ  की गिरफ़्तारी अमेरिका के आग्रह पर 01 दिसंबर को एक कथित ‘फ़्रॉड’ के मामले में की थी। मंग वांगचओ  के पास एक से अधिक सात पास पोर्ट होने की जानकारी अमेरिका ने ही कनाडा को दी थी। मंग वांग चओ  ने साल 2014 से 2017 के बीच 33 बार अमेरिकी सीमाओं में प्रवेश किया और वहाँ से बाहर गयी थीं, जबकि वह अमेरिका में एक बार में अधिकतम छह माह रह सकती थीं। मंग के पास दो पासपोर्ट ‘के’ श्रेणी में 32 पृष्ठ थे, जबकि ‘के जे’ में 48 पृष्ठ थे। कहा जा रहा है कि मंग के अधिकृत पास पोर्ट में जब इतने सारे पन्ने थे, तो वह नए पास पोर्ट की मांग कैसे कर सकती हैं? चीनी टेक कम्पनी क़रीब सवा तीन अरब डालर की बताई जाती है। चीन के प्रशासन तंत्र में मंग की गिरफ़्तारी को ले कर ख़ासा आक्रोश है।

चीनी उद्यमी मंग पर आरोप है कि उसने  साल 2009 से 2014 के बीच हांगकांग की एक कंपनी ‘स्काईकेम’ के ज़रिए ईरान की दूरसंचार कंपनी के साथ वित्तीय लेनदेन का व्यापार किया था, जबकि ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध लगे हुए थे। इस लेनदेन का ज़रिया अमेरिकी बैंकों के रास्ते होता रहा है। मंग  को अमेरिका प्रत्यर्पित किया जाता है तो उस पर अमेरिकी नियमों के तहत वित्तीय धोखा धड़ी में तीस साल की सज़ा हो सकती है।

Comments

Most Popular

To Top