Featured

स्पेशल रिपोर्ट: श्रृंगला ने विदेश सचिव का दायित्व सम्भाला

हर्ष वर्धन श्रृंगला

नई दिल्ली। अमेरिका में राजदूत रहे हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने यहां बुधवार को विदेश सचिव का दायित्व सम्भालने के बाद कहा है कि विदेश मंत्रालय और भारतीय विदेश सेवा का प्राथमिक उद्देश्य भारत की जनता की सेवा करना है।





गौरतलब है कि नये विदेश सचिव श्रृंगला ने यह दायित्व विजय़ गोखले से सम्भाला है जिन्होंने अवकाश ग्रहण कर लिया। उन्होंने कहा कि विदेश सचिव का दायित्व सम्भालना उनके लिये सम्मान की बात है औऱ सुखद अनुभव है। इस पद का दायित्व कई दिग्गज सम्भाल चुके हैं जिनके पदचिन्हों पर उन्हें चलना है। मुझे देश के सर्वेश्रेष्ठ सहयोगियों के साथ काम करने का मौका मिला है जो समर्पित तरीके से काम कर रहें हैं ।

श्रृंगला ने कहा कि विदेश सचिव के नाते वह अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था में भारत के प्राथमिक साझेदारों के साथ काम करने की उम्मीद कर रहे हैं। इस पद पर वह बाकी दुनिया के साथ विकासात्मक और आर्थिक सम्पर्कों को गहरा करेंगे।

विदेश सचिव ने कहा कि शीतयुद्ध के दौरान वह विदेश सेवा में भर्ती हुए औऱ विदेश सचिव के पद का दायित्व ऐसे वक्त सम्भाल रहे हैं जब वैश्विक उष्मा बढ़ना सबसे बड़ी चिंता की बात हो चुकी है। पड़ोसियों के साथ सम्बन्ध बनना और बड़ी ताकतों के साथ तालमेल बैठाना, आतंकवाद के खिलाफ भेदभावरहित रवैया अपनाना और नियम आधारित विश्व व्यवस्था के लाभों को स्थायी बनाना एक महती दायित्व है।

विकासशील देशों के साथ भारत के विकासात्मक अनुभवों के लाभों को बांटना खासकर अफ्रीका, लातिन अमेरिका आदि के दोस्त देश हमारी प्राथमिकता में होंगे। इसके अलावा साइबर दुनिया में उभरती चुनौती पर भी हमारी नजर होगी। अपने देश औऱ पृथ्वी के लिये इन चुनौतियों से विदेश मंत्रालय पूरी तरह वाकिफ है। श्रृंगला ने कहा कि प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री के निर्देशन में हम एक जीवंत औऱ सक्रिय कूटनीति करेंगे जो नये भारत की राजनयिक जरुरतों के अनुरुप होगी।

Comments

Most Popular

To Top