Featured

स्पेशल रिपोर्ट: सत्ता सम्भालते ही पाक विदेश मंत्री ने भारत को अपना परमाणु बम दिखाया

शाह मोहम्मद कुरैशी

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान को भेजे पत्र के जवाब में पाकिस्तान भारत को यह आगाह करने से नहीं चूका कि पाकिस्तान परमाणु हथियार से लैस देश है। पाकिस्तान की नई सरकार ने इस तरह फिर अप्रत्यक्ष तौर पर भारत को चेताया है कि पाकिस्तान के साथ उसकी शर्तों पर मेलजोल नहीं किया तो पाकिस्तान का परमाणु हथियार कहर ढा सकता है।





पाकिस्तान के पूर्व सेना प्रमुख और पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ के कार्यकाल में विदेश मंत्री रहे शाह मोहम्मद कुरैशी ने अपना पद सम्भालने के बाद  भारत के साथ बिना रुकावट वाली और लगातार चलने वाली वार्ता पर जोर दिया लेकिन ऐसा नहीं होने की सूरत में उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान पड़ोसी हैं औऱ भारत यह नहीं भूले कि पाकिस्तान परमाणु हथियारों से लैस है। 2008 में 26-11 के आतंकवादी हमले के वक्त पाकिस्तान के विदेश मंत्री रहे कुरेशी  तब पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेता थे और बाद में वह इमरान खान की पार्टी में शामिल हो कर तहीक-ए-इनसाफ पार्टी के वाइस चेयरमैन बने।

पाकिस्तान के नये विदेश मंत्री का ताजा बयान भारत पाकिस्तान के बीच किसी गम्भीर बातचीत शुरु होने की सम्भावना खत्म करने वाला है। हालांकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इमरान खान द्वारा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का दायित्व सम्भालने के बाद अपने बधाई पत्र में लिखा कि भारत पाकिस्तान के साथ अच्छे पड़ोसी वाला रिश्ता बनाए रखने के लिये प्रतिबद्ध है  और इसके लिये पाकिस्तान के साथ सार्थक और रचनात्मक  मेलजोल के लिये प्रतिबद्ध है।

कुरैशी ने पद सम्भालने के बाद मीडिया से कहा कि वह भारत से यह कहना चाहेंगे कि साहस दिखाने की कोशिश नहीं करें। हम न केवल आपके पड़ोसी हैं बल्कि एक परमाणु ताकत भी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भारत को कश्मीर मसले की अहमियत समझनी होगी।

 प्रधानमंत्री मोदी ने 18 अगस्त को प्रधानमंत्री इमरान को लिखे पत्र में  कुछ दिनों पहले उनके  साथ हुई टेलीफोन बातचीत की याद दिलाई औऱ कहा कि हम दोनों इस बात पर सहमत थे कि शांति , सुरक्षा और समृदिध के लिये दोनों साझा नजरिया रखते हैं। दोनों हिंद उपमहाद्वीप को शांति  व हिंसा से मुक्त रखना चाहते हैं ताकि विकास पर अपना ध्यान केन्द्रित कर सकें।

 प्रधानमंत्री मोदी के पत्र पर कुरेशी के बयान से पैदा विवाद पर सफाई देते हुए पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि  पाकिस्तान भारत के साथ सभी मसलों के हल के लिये परस्पर लाभजनक  और  बिना रुकावट  वाली बातचीत चाहता है।  केवल रचनात्मक बातचीत ही आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता है।

Comments

Most Popular

To Top