Featured

स्पेशल रिपोर्टः भारत का युद्धपोत पहुंचा डार्विन, समुद्री अभ्यास KAKADU- 2018 में लेगा भाग

INS सह्याद्री

नई दिल्ली। चीन के दावे वाले विवादास्पद समुद्री इलाके दक्षिण चीन सागर और प्रशांत सागर में चार महीने तक तैनात रहने के बाद भारतीय नौसेना का स्टील्थ युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री आस्ट्रेलिया के नौसैनिक बंदरगाह डार्विन पहुंचा जहां वह बहुराष्ट्रीय समुद्री अभ्यास KAKADU 2018 में भाग लेगा।





काकाडू नौसैनिक अभ्यास आस्ट्रेलिया की नौसेना द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित बहुराष्ट्रीय नौसैनिक अभ्यास है जो 1993 से आयोजित हो रहा है। यह अभ्यास हर दो साल पर डार्विन पर आयोजित होता है। KAKADU का नाम आस्ट्रेलिया के KAKADU नैशनल पार्क पर रखा गया है। KAKADU समुद्री अभ्यास का  14वां संस्करण 29 अगस्त से 15 सितम्बर तक चलेगा।  इस अभ्यास में  25 विभिन्न देशों के 23 युद्धपोत,  एक पनडुब्बी,  45 विमान,   250 मरीन और करीब 52 विदेशी नौसैनिक भाग लेंगे।

डार्विन बंदरगाह पहुंचने के पहले आईएनएस सह्याद्री ने अमेरिकी नौसेना द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित रिमपैक बहुराष्ट्रीय नौसैनिक अभ्यास और फिर भारत, अमेरिका औऱ जापान के त्रिपक्षीय मालाबार नौसैनिक अभ्यास में भाग लिया था।

KAKADU में भागीदारी करने से भारतीय नौसेना को अन्य क्षेत्रीय नौसेनाओं के साथ मेलजोल करने का काफी अच्छा अवसर मिलेगा। अभ्यास के दौरान पुलिसिया भूमिका निभाने के अलावा उच्च स्तर के समुद्री अभ्यास औऱ कार्रवाई होगी जिसमें सभी नौसेनाएं अपनी सर्वश्रेष्ठ प्रक्रियाओं से अवगत कराएंगे। अभ्यास के दौरान पेशागत आदान-प्रदान,  औऱ कई अन्य तरह के कार्यक्रम होंगे।

आईएनएस सह्याद्री की कप्तानी नौसेना के कैप्टन शांतनु झा कर रहे हैं। KAKADU अभ्यास में भाग लेने को भारतीय नौसैनिक अधिकारी हिंद प्रशांत इलाके में शांति व स्थिरता बनाए रखने के लिये आपसी तालमेल गहरा करने के इरादे से बड़ी कामयाबी मान रहे हैं। इससे हिंद प्रशांत इलाके सुरक्षा बनाए रखने में भारतीय नौसेना का योगदान उजागर होगा।

 

 

Comments

Most Popular

To Top