Featured

स्पेशल रिपोर्ट: 26 जनवरी परेड पर जैव ईंधन से पहली बार उड़ेगा एयरफोर्स का विमान

वायोफ्यूल से उड़ाए एयरक्राफ्ट

नई दिल्ली। आगामी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के मौके पर वायुसेना द्वारा पेश की जाने वाली परिवहन औऱ लड़ाकू विमानों की फ्लाई पास्ट के दौरान एक विमान पहली बार जैव इंधन से उड़ेगा। यह भारत का पहला सैन्य विमान होगा जिसे जैव इंधन से उड़ाया गया है।





भारतीय वायुसेना का यह विमान एएन- 32 परिवहन विमान है जो छह टन वजन के सैनिक साज सामान की सप्लाई दूरदराज के इलाकों में करता है।

एएन- 32 परिवहन विमान में शुरू में यह प्रयोग दस प्रतिशत जैव इंधन से सफलतापूर्वक 17 दिसम्बर को किया गया ।

आंशिक तौर पर जैव इंधन से भरा यह विमान एयरक्राफ्ट सिस्टम्स एंड टेस्टिंग इसटैबलिशमेंट (ASTE) के एक्सपेरिमेंटल टेस्ट पायलट औऱ इंजीनियरों ने उड़ा कर देखा।

जैव इंधन से विमान उड़ाने का यह प्रयास साझा तौर पर भारतीय वायुसेना, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ( DRDO)  डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ एरोनाटिकल क्वालिटी एस्योरंस ( DGAQA) और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम ने किया है। गौरतलब है कि गत 17 जुलाई को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने एक सेमिनार में कहा था कि वायुसेना गणतंत्र दिवस परेड पर जैव इंधन वाला विमान उड़ाएगी।

एएन- 32 में जैव इंधन डालने के बाद इसका जमीन पर गहन परीक्षण किया गया। इसके बाद इसका उड़ान परीक्षण वैमानिकी टरबाइन इंधन ( ATF) में मिलाकर किया गया। जैव इंधन जटरोफा पौधा से निकाले गए तेल से बनाया गया है। इसकी प्रोसेसिंग देहरादून स्थित वैज्ञानिक एवं औदोगिक शोध परिषद (CSIR) के इंडियन इंस्टीट्यूट आफ पेट्रोलियम ने की।

Comments

Most Popular

To Top