Featured

केरल में बारिश का कहर, फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना, नेवी और एयरफोर्स का रेस्क्यू ऑपरेशन

Rescue

तिरुवनंतपुरम। केरल में भारी बारिश, बाढ़ और भूस्खलन का तांडव जारी है। पेरियार नदी के जलस्तर में लगातार बढ़ोत्तरी के मद्देनजर कोच्चि एयरपोर्ट के डूबने की आशंका जताई जा रही है। सभी जिलों में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। वहीं सेना, नेवी और एयरफोर्स के साथ NDRF की टीमें भी फंसे लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पहुंचाने में जुटी है। राहत कैंप भी लगाए जा रहे हैं। केरल के पड़ोसी राज्य तमिलनाडु ने मदद के तौर पर 5 करोड़ भेजा है।





बाढ़ जैसे हालात को देखते हुए सेना, नेवी और एयरफोर्स मिलकर इदुक्की और वायानाड में राहत-बचाव कार्य में जुट गई है। राज्य सरकार के मदद मांगने के बाद चार नौसेना की टीमें और एक सी-किंग हेलिकॉप्टर वायनाड में फंसे लोगों को निकालने के लिए पहुंच चुका है। सेना के 200 जवान अयानकुलु, इदुक्की और वायनाड में तैनात हैं जबकि 150 जवान कोझिकोड और मल्लापुरम की ओर भेजे गए हैं। बारिश और भूस्खलन के कारण इदुक्की और वायनाड में काफी नुकसान हुआ है।

रेस्क्यू में लगा नौसेना हेलिकॉप्टर

पिछले 24 घंटे केरल के अलग-अलग भागों में लगातार हो रही बारिश के कारण 26 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 4 लापता बताए जा रहे हैं। इसी के साथ एर्नाकुलम के दो गांवों में रिलीफ कैंप भी खोले गए हैं जहां शरणार्थियों को रखा गया है। इदुक्की जिले में 11, मलाप्पुरम में 6, एर्नाकुलम में 3, कोझिकोड में 2 और वायनाड में 1 की मौत हो गई है। हालात को भांपते हुए सरकार की ओर से सभी जिलों में चौबीस घंटे काम करने वाले कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। इसी के साथ 1077 हॉटलाइन नंबर को सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में सक्रिय है।

Comments

Most Popular

To Top