Featured

CAPFs के शहीद कर्मियों के बच्‍चों को गृह मंत्री ने प्रदान किये छात्रवृत्ति चेक

राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। केन्‍द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को नई दिल्ली में 19 स्‍कूली बच्‍चों को छात्रवृत्ति चेक प्रदान किये। इन बच्‍चों के पिता केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बल (CAPFs) और असम राइफल्‍स  (AR) के सैन्‍यकर्मी थे, जिन्‍होंने देश की सेवा में अपने प्राणों की आहूति दे दी। इस वर्ष 265 बच्‍चों को डिजिटल रूप से धन का हस्‍तांतरण किया गया। इस योजना का प्रायोजक सरोजनी दामोदरन फाउंडेशन (SDF) है। SDF वीर सैनिकों को सम्‍मानि‍त करने और उनके बच्‍चों के भविष्‍य को सुरक्षित बनाने में योगदान देता है। फाउंडेशन न सिर्फ छात्रवृत्ति प्रदान करता है, बल्कि छात्रों को मार्गदर्शन और परामर्श भी उपलब्‍ध कराता है।





शहीद सीएपीएफ कर्मियों के बच्‍चों को मदद देने की यह योजना एसडीएफ द्वारा 2016 में शुरू की गई थी। कक्षा-1 से 4 तक के बच्‍चों को 6,000 रुपये, कक्षा 5 से 7 तक के बच्‍चों को 9,000 रुपये और कक्षा 8 से 12 तक के बच्‍चों को 12,000 रुपये प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति राशि के रूप में प्रदान किये जाते है। फाउंडेशन की दो योजनाएं हैं – विद्या रक्षक और विद्या धन। विद्या रक्षक योजना के तहत छात्रों को 12वीं कक्षा तक वित्‍तीय सहायता उपलब्‍ध कराई जाती है। विद्या धन योजना के तहत उच्‍च शिक्षा के लिए सहायता दी जाती है। फाउंडेशन ने अब तक 1,500 बच्‍चों की मदद की है।

अपने संबोधन में केन्‍द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस उत्‍तरदायित्‍व को निभाने के लिए सरोजनी दामोदरन फाउंडेशन के मैनेजिंग ट्रस्टी एस.डी. शिबूलाल की सराहना की। उन्‍होंने कहा कि फाउंडेशन, शहीद सीएपीएफ कर्मियों के बच्‍चों को सहायता प्रदान करने का नेक कार्य कर रहा है। ऐसे कार्यों से सामाजिक जिम्‍मेदारी का भी निर्वहन होता है। गृहमंत्री ने बच्‍चों के उज्‍ज्‍वल भविष्‍य और सफलता की कामना की। उन्‍होंने कहा कि यह कार्य सीएपीएफ कर्मियों को सम्‍मान देता है, जिन्‍होंने राष्‍ट्र की सुरक्षा और प्रतिष्‍ठा के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया।

गृह मंत्रालय और सीएपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी, एसडीएफ की पैट्रन श्रीमती कुमारी शिबूलाल और सीएपीएफ कर्मियों के परिजन भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।

Comments

Most Popular

To Top