Featured

जम्मू-कश्मीर: अलगाववादियों ने किया 3 दिन के बंद का आह्वान, सेना की ना के बाद भी मार्च

कश्मीर में बंद

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में मुठभेड़ के दौरान सात लोगों के मारे जाने के बाद घाटी में तनाव को काफी बढ़ा दिया है। अलगाववादी नेताओं ने आज (सोमवार) आम नागरिकों की मौत को लेकर मार्च और 3 दिन के बंद का आह्वान किया है। अलगाववादियों ने ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप (JRL) के बैनर के अन्तर्गत लोगों से सोमवार को बदामी बाग स्थित सेना के चिनार कोर के मुख्यालय तक मार्च करने का आह्वान किया है। हिंसा की आशंका में संवेदनशील जगहों पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। मीडिया खबरों के मुताबिक अलगाववादी नेता सैयद शाह गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक को नजरबंद कर दिया गया है। मोहम्मद यासीन मलिक भूमिगत है।





बंद के मद्देनजर श्रीनगर के नौशेरा, रैनावारी, खानयार, सफाकदल आदि थाना क्षेत्रों में पाबंदियां लगाई गई हैं। रास्तों सन्नाटा पसरा रहा और पेट्रोल पंप, व्यापारिक प्रतिष्ठान और दुकानें बंद रहीं। घाटी के क्षेत्रों में रेल सेवाएं स्थगित रहीं। मोबाइल से लेकर इंटरनेट सेवाएं ठप रहीं। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग, पुलवामा, कुलगाम और शोपियां में दूसरे दिन भी तनाव का माहौल कायम रहा।

बता दें कि सिरनू गांव में शनिवार को हिजबुल कमांडर जहूर अहमद ठोकर समेत तीन आतंकियों के मारे जाने के बाद हिंसक घटनाएं दर्ज की गईं थी।

पूर्व एमएलए तथा अवामी इत्तेहाद पार्टी (AIP) के अध्यक्ष इंजीनियर रशीद के समर्थकों के साथ UNO के दफ्तर मार्च को सुरक्षबलों ने नाकाम कर दिया था। जीरो ब्रिज के नजदीक पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोक दिया और रशीद को कस्टडी में ले लिया।

 

Comments

Most Popular

To Top