Featured

स्वतंत्रता दिवस विशेष: ‘थल सेना’- हम जग पे छाएंगे, ये बताएंगे…  

एस- 400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम

15 अगस्त को हम अपनी आजादी की 72 वीं सालगिरह मना रहे हैं। यह आजादी हमें अहिंसक आन्दोलन के जरिये मिली थी लेकिन अब हमारी इस आजादी औऱ हमारी अखंडता को चारों ओऱ से खतरा महसूस हो रहा है। घर के भीतर और बाहर दोनों से। जहां बाहर के दुश्मन हमारे घर के भीतर घुसकर हम पर वार कर रहे हैं वहीं वे हमारी सीमाओं पर लगातार सुरक्षा खतरा बनाए हुए हैं। सवाल उठता है कि हम इस आजादी को अंदरुनी और बाहरी खतरों से कैसे बचाएं?





आमने-सामने तैनात हैं भारत-चीन की सेनाएं

भारतीय और चीनी सैनिक

जहां एक ओऱ हमारे जम्मू कश्मीर के भीतर पाकिस्तान की सीमा से घुसपैठिये आतंकवादियों की मदद से हमारे पड़ोसी पाकिस्तान ने हमारे खिलाफ एक कम तीव्रता वाला युद्ध छेड़ा हुआ है वहीं चीन से लगी 4000 किलोमीटर वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत औऱ चीन की सेनाएं आमने-सामने तैनात हैं। साफ  है कि घोषित युद्ध नहीं छिड़ा होने के बावजूद हमारी सेनाएं हर जगह उलझी हुई हैं। इनकी पल भर की चूक देश की सम्प्रभुता और अखंडता के लिये चुनौती बन सकती है।

Comments

Most Popular

To Top