Featured

गोली लगने के बाद भी संदीप सिंह ने मार गिराये 3 आतंकी

लांस नायक संदीप सिंह

श्रीनगर। सोमवार को आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए सेना के लांस नायक संदीप सिंह के अदम्य साहस की कहानी हरेक भारतीय के सिर को गर्व से ऊंचा कर देती है। वीरगति प्राप्त करने से पहले संदीप सिंह न सिर्फ तीन आतंकियों को मार गिराया बल्कि आतंकियों के घातक हमले से अपने साथियों की जान भी बचाई। वह बहुत बहादुर थे और आतंकियों के खिलाफ आगे बढ़कर मोर्चा संभालते थे।





एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक सोमवार को संदीप सिंह तंगधार सेक्टर में गगाधारी नार इलाके में 4 पैरा कमांडो टीम के साथ तलाशी अभियान चला रहे थे। इसी दौरान उन्हें संदिग्ध गतिविधि दिखी तो आगे बढ़कर आतंकियों के खिलाफ मोर्चा संभाल लिया। आतंकियों की गोलियों के बीच संदीप सिंह और उसके साथियों ने एक-एक कर तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। मुठभेड़ के दौरान आतंकियों की गोली लगने से वह घायल हो गये लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आतंकियों की गोलियों का जवाब देते रहे। इसी दौरान एक गोली उनके सिर में आ लगी। अस्पताल पहुंचने से पहले रास्ते में लांस नायक वीरगति को प्राप्त हो गये।

गुरदासपुर जिले के कोटला खुर्द गांव के संदीप के परिवार में पिता जगदेव सिंह, मां कुलविंदर कौर, पत्नी गुरप्रीत कौर और पांच वर्ष का बेटा है। संदीप वर्ष 2007 में सेना में भर्ती हुए थे।

Comments

Most Popular

To Top