Featured

केरल में बाढ़ः  लोगों को बचाने में दिन-रात जुटे हैं सेना के जवान, NCMC की लगातार दूसरे दिन बैठक  

बाढ़ से प्रभावित लोगों को बचाते हुए NDRF

नई दिल्ली। राष्‍ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) की शुक्रवार को यहां केरल में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए दो दिनों में दूसरी बार बैठक हुई। कैबिनेट सचिव पी.के.सिन्‍हा ने बैठक की अध्‍यक्षता की और केरल तथा तमिलनाडु के मुख्‍य सचिवों के साथ एक वीडियो कांफ्रें‍स किया। केरल में आवश्‍यक सहायता उपलब्‍ध कराने के लिए सेना, नौसेना, वायु सेना, तटरक्षक एवं राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) सहित सभी एजेंसियों के अतिरिक्‍त संसाधनों को जुटाने का फैसला किया गया। भारतीय नौसेना ने गोताखोर टीमों के साथ 51 नौकाओं की तैनाती की हैं, 1000 जीवन रक्षक जैकेट और 1300 गमबूट्स  केरल भेजे जा रहे हैं। इसने बचाव अभियानों में 48 घंटों में 16 सामरिक उड़ाने भरीं।





कैबिनेट सचिव ने इन संगठनों को नौकाएं, हेलिकॉप्‍टर, जीवन रक्षक जैकेट, जीवन रक्षक पेटी (लाइफब्‍यॉय), रेनकोट, गमबूट्स, इनफ्लेटेबल टॉवर लाइट आदि उपलब्‍ध कराने का निर्देश दिया। केरल के मुख्‍य सचिव ने मोटरयुक्‍त नौकाओं का आग्रह किया, जिससे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे लोगों तक पहुंचा जा सके।

अभी तक केन्‍द्र सरकार ने 339 मोटरयुक्‍त नौकाओं, 2800 जीवन रक्षक जैकेट, 1400 जीवन रक्षक पेटी, 27 लाइट टॉवर एवं 1000 रेनकोट की तैनाती के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। इसके अतिरिक्‍त 72 मोटरबोट, 5000 जीवन रक्षक जैकेट, 2000 जीवन रक्षक पेटी, 13 लाइट टॉवर एवं 1000 रेनकोट तैनात किये गये हैं। 1,00,000 फूड पैकेट वितरित कर दिये गये है और 1,00,000 और फूड पैकेटों को वितरित किये जाने की व्‍यवस्‍था की जा रही है। मिल्‍क पाउडरों की आपूर्ति के लिए भी प्रावधान किये गये हैं।

भारतीय नौसेना ने गोताखोर टीमों के साथ 51 नौकाओं की तैनाती की हैं, 1000 जीवन रक्षक जैकेट और 1300 गमबूट्स आज केरल भेजे जा रहे हैं। इसने बचाव अभियानों में 48 घंटों में 16 सामरिक उड़ाने भरीं। तटरक्षक ने बचाव टीमों, 300 जीवन रक्षक जैकेट, 7 लाइफ रॉफ्ट एवं 144 जीवन रक्षक पेटी के साथ 30 नौकाएं तैनात की हैं।

भारतीय वायुसेना ने 23 हेलिकॉप्‍टर और 11 परिवहन वायुयान तैनात किये है। इनमें से कुछ विमान यालाहांका एवं नागपुर से उड़ान भर रहे हैं। सेना ने 10 सैन्‍य टुकडि़यों,10 इंजीनियरिंग कार्य बल (ईटीएफ), 60 नौकाएं एवं 100 जीवन रक्षक जैकेट तैनात की हैं।

एनडीआरएफ ने अन्य उपकरणों के साथ 43 बचाव दल और 163 नौकाओं की व्‍यवस्‍था की है।

कैबिनेट सचिव ने इन संगठनों को सीआरपीएफ, बीएसएफ और एसएसबी जैसे सीएपीएफ से अतिरिक्त नौकाओं और उपकरणों को जुटाने का निर्देश दिया।

रेलवे ने 1,20,000 पानी की बोतलें प्रदान की हैं। 1,20,000 और बोतलें भेजे जाने के लिए तैयार हैं। रेलवे एक विशेष ट्रेन भी चला रही है जिसमें 2.9 लाख लीटर पीने का पानी है जो कल कयाकुलम पहुंच जाएगा।

कोच्चि में नौसेना हवाई पट्टी का उपयोग नागरिक एयरलाइंस द्वारा करने का अधिकार केरल सरकार को दिया गया है क्योंकि नागरिक हवाई अड्डा बंद है।

केरल सरकार को उन क्षेत्रों में वी-सैट संचार लिंक के उपयोग की खोज करने की सलाह दी गई है, जहां टेलीफोन कनेक्टिविटी बाधित हुई है। कैबिनेट सचिव ने यह भी निर्देश दिया कि आपातकालीन दवाएं आपातस्थिति के लिए रखी जाएं। स्थिति की समीक्षा के लिए एनसीएमसी की कल फिर बैठक होगी।

सेना की 10 बाढ़ राहत टुकड़ियां विभिन्न जिलों में बचाव अभियान चला रही हैं। प्रत्येक टुकड़ी में 65 जवान हैं। इसके अलावा 10 इंजीनियर कार्यबल भी दिन-रात बचाव कार्य में लगे हुए हैं। प्रत्येक बचाव दल में 40 जवान हैं। सेना 53 सैन्य नौकाओं का भी प्रयोग कर रही हैं।  भारतीय सेना की टुकडि़यां अस्थायी फुटब्रिजों, बांधों और वैकल्पिक मार्गों की तैयारी करके दूरदराज के गांवों से सम्पचर्क बहाल करने के लिए दिन-रात काम कर रही हैं। 38 दूरस्थ क्षेत्रों को फिर से जोड़ने के लिए 13 अस्थायी पुलों का निर्माण किया गया और कुल 3627 व्यक्तियों को बचाया जा चुका है, जिसमें 22 विदेशी नागरिक शामिल हैं।

अभी तक 19 गांवों को राहत सामग्री भेजी गई है और लगभग 500 नागरिकों को चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसके अतिरिक्त तैयार भोजन के 3000 पैकेट और 300 जीवन रक्षक जैकेट शुक्रवार (17 अगस्त 2018) को नागरिक प्रशासन को सुपुर्द कर दिए गए हैं।

Comments

Most Popular

To Top