Featured

गार्ड्स रेजीमेंटल सेंटर में नए लड़ाकू सैनिकों का दीक्षांत समारोह

जवान
दीक्षांत समारोह में लड़ाकू सैनिक (प्रतीकात्मक)

नागपुर। यह सिर्फ रिक्रूट्स ही नहीं उनके माता-पिता तथा इंस्ट्रक्टर के लिए भी गौरवशाली क्षण था जब कोर्स सीरियल 117 के रिक्रूट्स ने एक भव्य और विधिवत दीक्षांत समारोह में शनिवार (4 अगस्त) को गार्ड्स रेजीमेंटल सेंटर कामठी में लड़ाकू सैनिकों का दर्जा हासिल किया। युवा बहादुर गार्ड्समैन्स ने एक रंगारंग समारोह परेड का प्रदर्शन किया। ये सैनिक अब देश सेवा के लिए तैयार हैं तथा देश की सीमा की अग्रिम पंक्ति की सुरक्षा के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित हैं। 34 सप्ताह के कठिन शारीरिक और मानसिक प्रशिक्षण के बाद इन बहादुर गार्ड्समैन ने यह दर्जा हासिल किया है। सदियों से चली आ रही परंपरा के अनुसार उन्होंने रेजीमेंट दंडपाल से अपने कर्तव्य के प्रति त्याग और बलिदान की शपथ ली।





रेजीमेंट बैंड की प्रसिद्ध ‘अल्ड लेन सेंग’ की धुन पर धीमी धुन पर चलते हुए परेड ग्राउंड पर चिन्हित अंतिम पग को पार करते ही रिक्रूट्स ने विधिवत रूप से लड़ाकू सैनिकों का दर्जा हासिल किया। सचमुच यह उन रिक्रूट्स के परिवार एवं संबंधियों के लिए गर्व का क्षण था जो अपने बच्चों के इस स्मरणीय समारोह में सुदूर क्षेत्रों से शामिल हुए। प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में अच्छे प्रदर्शन के लिए उत्कृष्ट गार्ड्समैनों को मैडल से सम्मानित किया गया। सभी क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए चंद्रगुप्त ट्रेनिंग कंपनी के रिक्रूट टिंकू जांगिड़ सर्वश्रेष्ठ रिक्रूट की ट्राफी प्रदान की गई। मेजर जनरल राजेश कुंद्रा, सेना मैडल, जीओसी उत्तर महाराष्ट्र एवं गुजरात सब एरिया ने परेड का अवलोकन किया।

गार्ड्स रेजीमेंट सेंटल सभी गार्ड्समैन का एक ऐसा शिक्षण संस्थान है जो सभी प्रकार के आधुनिक प्रशिक्षण संसाधनों से परिपूर्ण है तथा जहां पर सभी रिक्रूट्स को रेजीमेंट के कुशल इंस्ट्रक्टर द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है। रेजीमेंट सेंटर एक सिविलियन के व्यक्तित्व में निखार लाकर उन्हें एक अनुशासित एवं चुस्त सैनिक बनाता है जिससे वे वर्तमान माहौल में निर्मित चुनौतियों का डटकर मुकाबला कर सकें। रेजीमेंट को आजादी के बाद वीरतापूर्ण कार्यों के लिए 10 बैटल ऑनर भी मिल चुके हैं। इसके अलावा रेजीमेंट के पास वीरता पदकों की लंबी सूची है जिसमें 02 परमवीर चक्र, 02 अशोक चक्र, 06 महावीर चक्र, 04 कीर्ति चक्र, 40 वीर चक्र, 33 शौर्य चक्र और 154 सेना मैडल शामिल हैं जो गार्ड्समैन के शौर्य और बलिदान को प्रदर्शित करता है।

Comments

Most Popular

To Top