Featured

लद्दाखः घुसपैठ करने वाले चीनी सैनिकों ने समेटे अपने टेंट, वापस अपनी सीमा में लौटे

बॉर्डर

लद्दाख। पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में घुसपैठ करने वाले चीन के सैनिक अपने शेष दो टेंट उखाड़कर वापस अपनी सीमा में चले गए हैं। कुछ समय पहले चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी के जवान डेमचोक सेक्टर में भारतीय सीमा में 400 मीटर तक घुस आए थे। उन्होंने पांच टेंट भी लगा लिए थे। मीडिया खबरों में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि दोनों देशों की सेनाओं के मध्य ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत के बाद पीपल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने चेरडॉन्स-नेरलॉन्ग नाल्लान इलाके से तीन टेंट तो समेट लिए थे लेकिन दो टेंट लगे हुए थे और उनमें चीनी सेना के जवान भी रह रहे थे। अब खबर यह है कि बाकी दो टेंटे भी समेट लिए गये हैं और चीनी जवान अपनी सीमा में वापस चले गये हैं।





गौरतलब है कि चीन के रक्षा मंत्री अगले सप्ताह भारत यात्रा पर आएंगे। भारत यात्रा के दौरान चीनी रक्षा मंत्री के सामने यह मुद्दा उठ सकता था लेकिन इससे पहले ही चीन के सैनिक वापस चले गए।

मीडिया खबरों के मुताबिक डेमचोक सेक्टर में सीमा को लेकर अकसर विवाद उठता रहता है। चीन के जवान अकसर भारतीय सीमा में घुसपैठ करते रहते हैं। हालिया मामला भी इसी की एक कड़ी है। खबरों के मुताबिक पीपल्स लिबरेशन आर्मी के जवान जुलाई के पहले सप्ताह में खानाबदोशों के वेष में मवेशियों के साथ भारतीय सीमा में घुस आए। भारतीय जवानों ने उन्हें अपनी सीमा में लौटने को कहा लेकिन उन पर कोई असर नहीं हुआ। बता दें कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर टकराव टालने के लिए बैनर ड्रिल का प्रावधान है। इसमें एक पक्ष दूसरे पक्ष को झंडा लहराकर अपने क्षेत्र में लौटने को कहता है लेकिन बैनर ड्रिल का भी चीनी सैनिकों पर वह असर नहीं पड़ा, जो पड़ना चाहिए था।

अब चीनी रक्षा मंत्री के भारत दौरे की तारीख नजदीक आई तो चीनी सैनिक अपने इलाके में लौट गये। बता दें कि पिछले वर्ष डोकलाम में भी सैन्य गतिरोध लगभग दो महीनों के प्रयासों के बाद खत्म हुआ था।

 

Comments

Most Popular

To Top