Featured

लद्दाख में 400 मीटर तक चीनी सेना ने की घुसपैठ, भारतीय सीमा में गाड़े तंबू

चीनी सैनिक

नई दिल्ली। चीन ने एकबार फिर लद्दाख सीमा पर गतिरोध उत्पन्न करने की कोशिश की है। डोकलाम विवाद अभी खत्म हुए कुछ ही महीने बीते होंगे कि इस तरह की घटना एक बार फिर सामने आई है। खबर है कि हाल ही में पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में चीन के सैनिकों ने घुसपैठ की। कहा जा रहा है कि चीनी सैनिक भारतीय सीमा में तकरीबन 300-400 मीटर अंदर तक घुस आए थे। यह भी कहा जा रहा है कि उसने भारतीय सीमा में पांच तंबू भी गाड़ दिए थे।





सुरक्षा से जुड़े सूत्रों ने सोमवार को यह स्पष्ट किया कि ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत के बाद चीन की सेना चेरदान-नेरलांग क्षेत्र में अपने 5 में से 3 तंबू उखाड़ लिए हैं। अभी भी 2 तंबू वहां मौजूद हैं और उसमें कुछ चीनी सैनिक भी हैं। वहीं इस मसले पर भारतीय सेना ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक चीन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवान कुछ खानाबदोश लोगों के जानवरों का पीछा करते हुए जुलाई के पहले हफ्ते में भारतीय सीमा में दाखिल हुए थे और फिर वापस नहीं लौटे हैं।

कहा जा रहा है कि भारतीय सेना के जवानों ने चीनी सैनिकों के सामने कई दफा ‘बैनर ड्रिल’ कर उन्हें वापस जाने को कहा। लेकिन चीनी सैनिकों पर इसका कोई खास असर नहीं हुआ। जिसे देखते हुए भारत ने ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत के लिए चीन पर दबाव बनाया, इसके बाद कुछ चीनी सैनिक वापस अपनी सीमा में चले गए हैं।

सूत्रों के मुताबिक लद्दाख प्रशासन नेरलांग इलाके में एक रास्ते का निर्माण कर रहा है, जिसके कारण चीनी सैनिकों ने शिकायत की है। गौरतलब है कि लद्दाख का डेमचोक सेक्टर भारत और चीन के बीच 23 संवेदनशील क्षेत्रों में से एक है। पूर्वी लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश की तरफ जाती सीमा पर लगातार दोनों देशों के सैनिकों के बीच गतिरोध की खबरें आती रहती हैं। लद्दाख में डेमचोक सेक्टर के अलावा ट्रिग हाइट्स, डमचेले, चुमार, स्पंगुर गैप और पेंगोंग सो इलाके में भी सीमा विवाद है।

एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक भारत और चीन के बीच इस वर्ष अभी तक 170 बार LaC पर विवाद हो चुका है।

 

Comments

Most Popular

To Top