Featured

सेना भर्तीः किसी ने कागजों में उम्र कम की तो किसी ने जाति ही बदल ली, मामला दर्ज  

सेना भर्ती
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली। फर्जी दस्तावेजों के जरिए सेना में भर्ती होने का प्रयास करने वाले युवकों के पकड़े जाने की खबरें जब-तब अखबारों में आती रहती हैं। लेकिन इसके बावजूद बहुत से युवाओं ने इससे कोई सबक नहीं सीखा है। अब हरियाणा के चरखी दादरी से खबर आई है कि वहां लगभग दो दर्जन युवाओं ने सेना में भर्ती होने के लिए अपने दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा किया है। किसी ने कागजातों में अपनी उम्र कम दिखाई है तो किसी ने अपनी जाति ही बदल ली। कुछ युवाओं ने तो अपने पिता का नाम तक बदल दिया।





खबरों के मुताबिक अक्तूबर 2017 में चरखी दादरी में सेना भर्ती रैली आयोजित की गई थी। भर्ती की प्रक्रिया पूरी करने वाले युवाओं की लिखित परीक्षा ली गई। उसका परिणाम भी दिसंबर 2017 में घोषित कर दिया गया। चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेजों की जांच प्रक्रिया शुरू हुई तो कई मामले संदिग्ध पाए गए। संदिग्ध मामलो की सेना की स्पेशल टीम द्वारा गहनता से जांच शुरू की गई तो कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। जांच टीम के मुताबिक सेना में भर्ती होने के लिए कई युवाओं ने कई तरह के हथकंडे अपनाए। दो दर्जन ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें युवाओं ने कागजातों में अपनी जन्म तिथि से छेड़छाड़ की। लगभग सभी ने कागजों में अपनी उम्र छोटी दिखाई है। कुछ ऐसे मामले भी सामने आए हैं जिनमें अभ्यर्थियों ने कागजों में अपनी जाति में बदलाव किया है। कुछ ने अपने पिता के नाम में ही बदलाव कर दिया है।

कागजों में गड़बड़ी करके सेना में भर्ती होने की कोशिश करने वालों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाया गया है।

रक्षक न्यूज की राय

सेना में भर्ती होने के लिए युवा जिस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं वह चिंताजनक है। वे दस्तावेजों में छेड़छाड़ कर या जाली प्रमाण पत्र के माध्यम से नौकरी पाने की खुलेआम जुगत कर रहे हैं। बीडीओ और सरपंच भी बिना जांच-पड़ताल किए दस्तावेजों को सही मानकर आगे बढ़ा रहे हैं। युवाओं को हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि झूठ-फरेब का सहारा नौकरी अथवा जीवन के किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने में कभी भी मददगार नहीं होता।

 

Comments

Most Popular

To Top