Featured

सेंट्रल ऑडिनेंस डिपो से गायब एके- 47 राइफलें अपराधियों के पास

एके 47 राइफल
एके 47 राइफल (प्रतीकात्मक)

पटना। जबलपुर के सेंट्रल ऑडिनेंस डिपो से गायब एके- 47 राइफलें बिहार में अपराधियों द्वारा बेधड़क इस्तेमाल की जा रही हैं। तीन दिन पहले मुजफ्फरपुर में ताबड़तोड़ गोलियों से छलनी किए गए पूर्व मेयर की हत्या में एके- 47 राइफल का इस्तेमाल किया गया था। इस बात की पुष्टि जिले की एसएसपी हरप्रीत कौर ने मंगलवार को की थी।





राज्य में अपराधी एके- 47 राइफल का निडर होकर इस्तेमाल कर रहे हैं। मुंगेर के पुलिस अधीक्षक बाबू राम के मुताबिक मध्य प्रदेश की जबलपुर की ऑडिनेंस डिपो से पिछले कुछ सालों में 50 से ज्यादा एके- 47 राइफल्स गायब हुईं थीं। इनमें से अधिकांश हथियार बिहार पहुंचाए गए। उन्होंने बताया कि पिछले 15 दिनों के भीतर मुंगेर के विभिन्न क्षेत्रों से 8 एके- 47 बरामद की गईं और अब तक 08 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मुंगेर पुलिस ने जबलपुर पुलिस के साथ मिलकर एक अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गिरोह का सरगना सेना का पूर्व कर्मचारी पुरुषोत्तम है। इस पूर्व सैनिक ने खुलासा किया है कि साल 2012 से अब तक 63 एके- 47 राइफलों की तस्करी सेंट्रल ऑडिनेंस डिपो से बिहार के लिए की जा चुकी है।

 

Comments

Most Popular

To Top