Listicles

घाटी में आतंकी फंडिंग पर कसेगी नकेल, सुरक्षा एजेंसियां और हुईं अलर्ट

भारतीय जवान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आतंक पर लगाम कसने का केंद्र सरकार का सिलसिला जारी है। अब सुरक्षा एजेंसियों ने आतंकियों संगठनों की फंडिंग पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। एक आकलन के मुताबिक जैश, लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल जैसे आतंकी संगठनों पर भले ही कार्रवाई की गई है लेकिन आतंकी गतिविधियों को हवा-पानी देने के लिए इनकी फंडिंग अभी भी की जा रही है।





खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक इन आतंकी संगठनों में भर्ती अभी भी नहीं रुकी है। लिहाजा सुरक्षा एजेंसियां कारगर रणनीति बना रही हैं। सुरक्षा एजेंसी के एक अधिकारी के अनुसार कई व्यापारी भी निशाने पर हैं। हवाला आतंकी फंडिंग का एक मुख्य श्रोत बना हुआ है। जिस तरह से फंडिंग की जा रही है उससे लग रहा है कि आतंकियों का नेटवर्क अभी भी मजबूत बना हुआ है जिसे ध्वस्त करने की जरूरत है।

सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) द्वारा की जा रही जांच बताती है कि पाक द्वारा भी आतंकी संगठनों को फंडिंग की जा रही है। गौरतलब है कि एनआईए ने 30 मई, 2017 को जमात-उद-दावा, दुख्तेरान-ए-मिलात, लश्कर-ए-तैयबा, हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकियों और अलगाववादी संगठनों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

Comments

Most Popular

To Top