Police

भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त हुई यूपी सरकार, 7 PPS अफसरों को दिखाया बाहर का रास्ता

सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रूख अपनाते हुए 07 पीपीएस अधिकारियों को जबरन रिटायर कर दिया है। शासन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सरकारी सेवाओं मे दक्षता सुनिश्चित करने के लिए प्रांतीय पुलिस सेवा संवर्ग (पीपीएस) के 07 अधिकारियों जिनकी उम्र 31 मार्च, 2019 को 50 वर्ष या उससे अधिक थी उन्हें रिटायरमेंट किए जाने की स्क्रीनिंग कमेटी पर शासन ने निर्णय लिया है।





बता दें कि सभी अफसर डिप्टी एसपी और सीईओ पद पर तैनात थे। यूपी सरकार ने कुछ अधिकारियों को बर्खास्त भी किया है।

गौरतलब है कि पिछले 02 वर्षों में यूपी सरकार विभिन्न विभागों के 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है। इन दो वर्षों में राज्य सरकार ने 400 से ज्यादा अधिकारियों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए हैं। इतना ही नहीं इस कार्रवाई के अलावा 150 से ज्यादा अधिकारी अब भी सरकार के रडार पर हैं। गृह विभाग में सबसे ज्यादा 51 लोग जबरन रिटायर किए गए थे।

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आलसी कर्मचारियों और अफसरों को उम्र से पहले रिटायर करने की घोषणा जुलाई में ही कर दी थी। सरकार ने 50 साल की उम्र में ही सुस्त और लापरवाही बरतने वाले अफसरों को रिटायरमेंट देने का फैसला किया था।

मालूम हो कि केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले 03 वर्षों में कई अफसरों को कंपलसरी रिटायरमेंट दिया है। करीब आधा दर्जन आईएएस अधिकारियों को केंद्र सरकार रिटायरमेंट दे चुकी है।

Comments

Most Popular

To Top