North India

जानिए, थाने में खून-खराबे पर क्यों उतारू हुए पुलिसकर्मी

रिश्वतखोरी

नई दिल्ली। घूस की रकम के बंटवारे को लेकर थाना परिसर में ही दिल्ली पुलिस के सहायक उपनिरीक्षक (ASI) और हेड कांस्टेबल के बीच जमकर मारपीट हुई। झगड़ा इतना बढ़ गया कि पीसीआर को बुलाना पड़ गया। मामला सफदरजंग पुलिस स्टेशन (दक्षिण जिला) का है और दोनों ही ग्रीन पार्क सब डिवीजन में तैनात थे।





दोनों कर्मियों को काफी चोट लगी है। उन्हें सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। इसके बाद, दोनों अधिकारियों को दक्षिण दिल्ली जिला पुलिस लाइनों में स्थानांतरित कर दिया गया, हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है। सूत्रों के मुताबिक़ घटना को यहीं दबा दिया गया है। पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक और दक्षिण पुलिस के विशेष आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) पी कामराज को घटना की जानकारी नहीं दी गई है।

घटना में शामिल ASI का नाम रामपाल और हेड कांस्टेबल का नाम श्याम सुन्दर है। दोनों सफदरजंग पुलिस स्टेशन पर कई वर्ष से तैनात बताए जाते हैं। बताया जाता है कि शनिवार रात को दोनों ग्रीन पार्क क्षेत्र में पेट्रोलिंग के बाद थाने पहुंचे और ‘पैसे’ को लेकर झगड़ने लगे।

गरमा-गरमी के बाद, दोनों ने एक दूसरे को मारना शुरू कर दिया और एक-दूसरे की वर्दी तक फाड़ दी। पहले तो अन्य पुलिसकर्मी मूक दर्शक बने रहे लेकिन खून-खराबा बढ़ने पर कुछ पुलिस वाले बीच में आए और उन्हें शांत करने की कोशिश की। एक अधिकारी ने पीसीआर को बुलाया जो दोनों को सफदरजंग अस्पताल ले गई और उनकी चिकित्सा करवाई। इनमें से किसी के खिलाफ अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

साभार : द ट्रिब्यून से प्रतीक चौहान की रिपोर्ट

Comments

Most Popular

To Top