BSF

तीन लोगों की हत्या में आरोपित DSP ने खुद को गोली मारी

DSP भगवान दास ने खुद को गोली मारी

हिसार। बीएसएफ जवान समेत तीन लोगों की हत्या में आरोपित हिसार के डीएसपी रहे भगवान दास ने कल पंचकूला पुलिस लाइंस में अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर खुदकुशी करने की कोशिश की। उन्हें पंचकूला के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत गंभीर बताई गई है। सोमवार को हुए हत्याकांड में नाम आने के बाद भगवान दास का तबादला पुलिस मुख्यालय में कर दिया गया था।





52 वर्षीय भगवान दास पर पीड़ित परिवार का आरोप है कि होली वाले दिन डीएसपी ने अपने साथियों को गोली चलाने के लिए उकसाया था। हिसार एसपी राजेन्द्र मीणा ने हत्याकांड में डीएसपी के रोल से इनकार किया लेकिन माना कि वह होली पर गाँव गए थे।

घटनाक्रम के अनुसार पुलिस लाइंस की आफिसर्स मेस में दास ने सुबह करीब सवा नौ बजे नाश्ता मंगाया, जो उन्हें अटेंडेंट ने पहुंचा दिया। इसी बीच एसीपी दलीप सिंह कृषि मंत्री ओपी धनकड़ से मिलने जा रहे थे तो उन्होंने सोचा कि अपने बैचमेट भगवान दास से भी मिलते चलें। जब उन्होंने उनके कमरे में प्रवेश किया था तो पाया कि वह बेड पर पड़े हैं और खून बह रहा है। वह उन्हें अलकेमिस्ट अस्पताल ले गए।

पत्रकारों से बातचीत में पंचकूला के डीसीपी अनिल धवन ने जानकारी दी कि कोई सुसाइड नोट मौके से नहीं मिला है। फोरेंसिक टीम ने कमरे की बारीकी से जांच की है। अभी तक यह साफ़ नहीं है कि उन्होंने खुदकुशी की कोशिश क्यों की। उन्होंने बताया कि दास की हालत बेहद गंभीर है और वह वेंटीलेटर पर हैं। धवन ने भी दास के लिए रक्तदान किया है। चंडीमंदिर थाने के एसएचओ ने बताया कि अभी तक कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।

दास और 23 अन्य लोगों पर शेखपुरा के राम कुमार, मुकेश कुमार और होली मनाने छुट्टी पर घर आये बीएसएफ जवान प्रदीप की हत्या का आरोप है। कहा जाता है कि दास का गाँव के पूर्व सरपंच बलबीर सिंह के साथ झगड़ा चल रहा था। बलबीर ने दास की बेटी पूजा रानी के खिलाफ पंचायत चुनाव लड़ा था। जिन लोगों की हत्या हुई है, वे बलबीर के करीबी बताए जाते हैं।

Comments

Most Popular

To Top