North-Central India

ट्रिन-ट्रिन…’जब से तुम्हें मैंने देखा सनम’…. हैलो ! यूपी पुलिस

यूपी पुलिस

बरेली। यदि आप बरेली के बारादरी या कैंट पुलिस थाने में किसी शिकायत के लिए कॉल लगाएं और आपको सुनने को मिले ‘जब से तुम्हें मैंने देखा सनम..’ तो चौंकिएगा नहीं क्योंकि थानेदार साहब भी नहीं समझ पा रहे कि ये कैसे हो गया।





जनाब आपने बिल्कुल सही नंबर लगाया है लेकिन गड़बड़ी थाने के लैंडलाइन में है, जिसमें थाने की कॉलरट्यून नहीं, बल्कि हिंदी फिल्म के लवसॉन्ग वाली कॉलरट्यन सेट कर दी गई है। प्रदेश के मुख्यमंंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो दिन पहले ही अपने प्रदेश की पुलिस की शहर में कुशल सेवाएं देने के लिए जमकर प्रशंसा की थी।

‘जीता था जिसके लिए, जिसके लिए मरता था…’ जी हां, एक शिकायतकर्ता ने जब बरेली के एक पुलिस थाने में फोन लगाया तो उसे फोन पर ये गाना सुनने को मिला। शिकायतकर्ता को लगा कि हो सकता है ये गलत नंबर लग गया हो इसलिए उसने एक अन्य नंबर डायल किया, लेकिन इस बार ‘जब से तुम्हें मैंने देखा सनम..’ सुनने को मिला तब जाकर पुलिस स्टाफ ने उनकी शिकायत सुनी, तब ये सुनिश्चित हुआ कि ये नंबर थाने का ही था।

पुलिस अधिकारियों को नहीं है कोई सूचना

कैंट पुलिस थाने के थानाध्यक्ष के अनुसार ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जिसके माध्यम से हम कॉलरट्यून सेवा के लिए अनुरोध कर सकें। मैं खुद अभी उलझन में हूं कि आखिर ये कॉलरट्यूट कैसे सेट हुई है। थानाध्यक्ष के मुताबिक जब से शिकायतों के लिए 100 नंबर जारी किया गया है, तब से केवल क्लर्क और अन्य स्टाफ सदस्य ही इन लैंडलाइन नंबर्स को संचालित करते हैं। इसके अलावा सभी थाना इंचार्ज, सभी स्टेशन अधिकारियों और पुलिस विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के सीयूजी मोबाइल ग्रुप हैं, जिनसे संपर्क किया जा सकता है।

मुसीबत में कौन सुनना चाहेगा लव सॉन्ग

सूत्रों के मुताबिक, स्थानीय निवासियों ने पुलिस के इस विकास पर खुशी भी जाहिर की है लेकिन आलोचना भी की है। यह काफी विचित्र है। हालांकि, बॉलीवुड सॉन्ग की कॉलरट्यून होना कोई अपराध नहीं है, लेकिन कोई भी व्यक्ति आपातकाल में और मुसीबत में ही पुलिस थाने में फोन करता है और ऐसे वक्त में कोई भी लवसॉन्ग नहीं सुनना चाहेगा।

Comments

Most Popular

To Top